कलियुगी माँ ने नवजात को मरने के लिए झाड़ियों में फेंका, पुलिस बनी भगवान
अब इसे मोहब्बत का विकृत रूप कहा जाए या फिर कुछ और बाँदा के अतर्रा चुंगी इलाके की एक घटना ने कलियुगी माता के विभत्स रूप के दर्शन कराए, याद रहे पिछले दिन ही विश्व मातृ दिवस था।
कलियुगी माँ ने नवजात को मरने के लिए झाड़ियों में फेंका, पुलिस बनी भगवान
Newborn Baby Found in bushes in Banda UPUday Bulletin

नवजात मिला झाड़ियों में :

मामला उत्तर प्रदेश के बाँदा शहर से जुड़ा हुआ है जहाँ अलीगंज पुलिस चौकी क्षेत्र अंतर्गत अतर्रा चुंगी के पास झाड़ियों में एक हाल में ही जन्मे शिशु को देखे जाने की जानकारी मिली। लोगों ने आनन-फानन में पास में शहर सुरक्षा के लिए तैनात एसआई और पुलिस कर्मियों को इस बाबत सूचना दी, सूचना मिलते ही मात्र पांच मिनिट के अन्तराल में एसआई रोशन गुप्ता और कांस्टेबल शैलेन्द्र दुबे मौके पर पहुँच गए, जब तक पुलिस मौके पर पहुंची तो शिशु गर्मी और अन्य स्वास्थ्य जनित समस्याओं के कारण रोना बंद करके अचेत हो चुका था। एसआई और कांस्टेबल ने आनन-फानन में नवजात को लेकर जिला अस्पताल जाने का निर्णय किया जहां पर नवजात की हालत बेहद नाजुक हालत देखकर वेंटिलेटर सपोर्ट दिया गया। ज्ञात हो कि बच्चे को जन्म के तुरंत बाद ही झाड़ियों में फेंक दिए जाने के कारण उसमे संक्रमण की स्थिति ज्यादा विकट हो चुकी थी इसलिए वेंटिलेटर पर रखने और उचित इलाज की वजह से देर दोपहर में नवजात ने आंखे खोली और टूटती हुई सांस वापस आ गयी। मौके पर दोनो पुलिसकर्मियों ने इस घटना पर ईश्वर का धन्यवाद ज्ञापित किया इस मामले पर दोनो पुलिसकर्मी प्रशन्नता के साथ झूमते नजर आए।

जब इस तरह फेंकना था तो जन्म ही क्यों दिया :

Newborn Baby found in bushes
Newborn Baby found in bushesUday bulletin

इस मामले को लेकर सभी स्थानीय लोगों के द्वारा नवजात की माँ की निंदा की गई। लोगों के अनुसार जब फेंककर बच्चे की जान ही लेनी थी तो इसे जन्म क्यों दिया? लोग इस शिशु के जन्म को लेकर अवैध प्रेम संबंध और लोक लाज के भय से फेंकने को भी जोड़कर देख रहे हैं हालांकि स्थानीय पुलिस आसपास के क्षेत्र में जानकारी जुटा रही है ताकि इस बच्चे की असली माँ का पता चल सके।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com