उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
मेनका गांधी
मेनका गांधी |IANS
देश

“भारत में अब ‘मी टू’ अभियान की शुरुआत हो गई है। यह देखकर मैं बहुत खुश हू” -मेनका 

महिला एवं बाल कल्याण मंत्री मेनका गाँधी ने खुशी जाहिर करते हुए कहा है की “मुझे लगता है कि महिलाएं जिम्मेदार हैं और यौन उत्पीड़न पर उनका गुस्सा कभी कम नहीं होना चाहिए।”

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्री मेनका गांधी ने सोमवार को भारत में 'मी टू' अभियान के शुरू होने पर खुशी जताई और कहा कि इस अभियान का इस्तेमाल बदले की कार्रवाई या किसी को निशाना बनाने के लिए नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोई महिला अपने साथ हुए दुराचार की शिकायत कभी भी करा सकती है।

आईएएनएस द्वारा जानकारी के अनुसार, मेनका गांधी ने कहा, "भारत में अब 'मी टू' अभियान की शुरुआत हो गई है। यह देखकर मैं बहुत खुश हूं। मुझे उम्मीद है कि इस अभियान का इस्तेमाल किसी को निशाना बनाने या बदला लेने के लिए नहीं किया जाएगा।"

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि महिलाएं जिम्मेदार हैं और यौन उत्पीड़न पर उनका गुस्सा कभी कम नहीं होना चाहिए।"

उन्होंने कहा, "यौन उत्पीड़न की घटना महिलाओं को हमेशा याद रहती है कि ऐसी हरकत किसने की। यही कारण है कि हमने कानून मंत्रालय को लिखा है कि यौन उत्पीड़न की शिकायत किसी भी समय दर्ज कराने की व्यवस्था होनी चाहिए।"

उन्होंने कहा, "महिलाएं 10-15 साल बाद या कभी भी अपने साथ हुई यौन उत्पीड़न की घटना की शिकायत दर्ज करा सकती हैं। यह मायने नहीं रखता कि कितने वर्ष बाद शिकायत दर्ज करा रही हैं। शिकायत दर्ज कराने का रास्ता हमेशा खुला है।"

आपको बता दें, अमेरिकी कार्यकर्त्ता तराना बर्क ने 2006 में यौन उत्पीड़न और कार्य क्षेत्र में यौन हमले के खिलाफ आवाज उठाने के लिए #Metoo कैंपेन की शुरुवात कि थी।तराना बर्क ने 13 वर्षीय बच्ची के साथ हुए यौन उत्पीड़न की घटना से प्रेरित होकर "मी टू" नामक डॉक्यूमेंट्री का निर्माण किया था , जिससे उन्होंने उस बच्ची को विश्वास दिलाया की वो यौन उत्पीड़न का शिकार हुई है। बाद में इसे अमेरिकी अभिनेत्री एलिसा मिलानो ने 2017 में ट्विटर के माध्यम से लोकप्रिय बना दिया।भारत में भी #metoo कम्पैन की शुरुवात हो चुकी है, मेनका गाँधी ने इसपर खुशी जाहिर कि है।