naxal bhabhi hathras
naxal bhabhi hathras|Google Image
देश

हाथरस कांड में सामने आया नक्सली कनेक्शन, भाभी बनकर रह रही थी महिला

नक्सली महिला खुद को मृतक युवती की भाभी बनकर पीड़ित परिवार के घर में रह रही थी और परिवार को बरगला रही थी, मृतका की असली भाभी ने नकली भाभी को घर पहुँचाया था।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

हाथरस कांड के मामले की जांच कर रही एसआईटी और सुरक्षा एजेंसियों को मामले में एक अलग ही सूत्र मिला है, जानकारी के मुताबिक जबलपुर की एक महिला हाथरस के घर में मृतका की भाभी बनकर रह रही थी और साजिश रच रही है, सुरक्षा एजेंसियों को महिला की तलाश है।

भाभी बनकर रह रही थी महिला:

हाथरस कांड को लेकर जांच एजेंसियों को पहले से ही पीएफआई के बारे में जानकारी मिल रही थी अब इस मामले में एजेंसियों को इस मामले में एक और जानाकरी प्राप्त हुई है जिसके चलते सुरक्षा एजेंसियों और जांच एजेंसियों में हड़कंप मचा हुआ है, दरअसल प्राप्त जानकारी के अनुसार हाथरस के पीड़ित परिवार में एक नक्सली महिला पीड़ित परिवार के घर में मृतका की भाभी बनकर जांच एजेंसियों को लगातार चकमा दे रही थी और जांच के रास्ते को बदलने की कोशिश कर रही थी। जानकारी के मुताबिक यह महिला पीड़ित परिवार के घर मे 16 सितंबर से लेकर 22 सितम्बर तक रुकी और जांच एजेंसियों, अधिकारियों के सामने घूंघट लेकर बातचीत कर रही थी। महिला को जबलपुर के मेडिकल कालेज में प्रोफ़ेसर बताया जा रहा था और अपना नाम राजकुमारी बता रही थी, इस मामले में जब पुलिस ने महिला द्वारा किये गए कॉल्स की डिटेल निकाली तो महिला के कनेक्शन नक्सलियों से सामने आये है, एसआईटी और सरकार जल्द ही महिला की काल डिटेल्स सार्वजनिक कर सकती है।

कथित नक्सली भाभी के बारे में वायरल हुआ वीडियो :

किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की थी कोशिश:

इस मामले में अपनी दखल रखने वाले लोगों ने जानकारी दी कि महिला घर मे रहकर लोगों व समुदाय के लोगों को उकसाने में लगी हुई थी, यही नही जब जांच एजेंसी और एसआईटी पीड़ित परिवार से सवाल करती थी तब वह महिला परिवार की तरफ से एजेंसियों से मामले को अलग दिशा में ले जाने का प्रयास कर रही थी, हालाँकि महिला अब घर से गायब है और उसकी तलाश की जा रही है, पीड़ित परिवार भी उस महिला के बारे में जानबूझकर कोई जानकारी उपलब्ध नहीं करा रहा।

असली और नकली भाभी लगातार संपर्क में थी:

ज्ञात हो हाथरस मामले में मृतका की असली भाभी उक्त महिला से लगातार संपर्क में थी और इस मामले को लेकर असली भाभी ने ही नकली भाभी को घर मे इम्प्लांट कराया था, उक्त महिला लगातार घूँघट में रहती थी ताकि उसकी असलियत न खुल सके, इसी नकली भाभी द्वारा "ठाकुरों की लड़कियों के रेप करने की धमकी दी गयी थी", उक्त नक्सली महिला द्वारा यह कहा गया था कि ठाकुर अपनी लड़कियों को हमारे पुरुषों के साथ 6 दिनों के लिए छोड़ दे, जो हमारी बच्ची के साथ हुआ वही ठाकुरों की बच्ची के साथ होना चाहिए, यही न्याय है और मैं एक झटके में पंचायत का निर्णय कर दूंगी"

पीएफआई और भीम आर्मी का कनेक्शन पहले से है:

ज्ञात हो कि इस मामले में जांच एजेंसियों को पीएफआई (पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) और भीम आर्मी के कनेक्शन जुड़े होने के सुबूत पहले से मिल गए है इस मामले में हिंसा हो उकसाने के लिए पीएफआई और अन्य हिंसक संगठनों द्वारा की गई फंडिंग के भी पर्याप्त सबूत मिले है जिसपर प्रवर्तन निदेशालय पहले से ही जांच कर रहा है।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com