उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
गौमाता
गौमाता|image source: google
देश

“गौमाता” को मिला “राष्ट्रमाता” का दर्ज़ा।  

“उत्तराखंड” बना गाय को “राष्ट्रमाता” घोषित करने वाला पहला राज्य।   

Sneha Sinha

Sneha Sinha

देहरादून : हमारे देश में गाय को माता का दर्जा दिया जाता है लेकिन दिन-प्रतिदिन बढ़ती गौ- हत्या को मद्देनज़र रखते हुए देहरादून विधानसभा में चल रहे मानसून सत्र के दौरान सदस्यों द्वारा अपनी "गौमाता" को उत्तराखंड में "राष्ट्रमाता" घोषित करने का प्रस्ताव रखा और सारे तथ्यों को सुनने के बाद किसी प्रकार की क्षति न होने के कारण राज्य विधानसभा ने बहुमत के साथ इसे पारित कर दिया।

पूरे देश की गायों के पक्ष में रहकर राज्य के पशुपालन मंत्री रेखा आर्य ने भारत सरकार से गाय को संवैधानिक तौर पर राष्ट्रमाता घोषित करने का निवेदन किया है। उन्होंने पशुओं के प्रति चिंता एवं प्रेम को दर्शाते हुए कहा की गाय को हम माता मानते हैं और हिन्दू धर्म के अनुसार गाय में 33 करोड़ देवी देवताओं का वास होता है तथा इसे आस्था का प्रतीक माना जाता है। बस इतना ही नहीं गाय एकमात्र ऐसी अद्भुत प्राणी है जो साँस लेने के पश्‍चात् ऑक्सीजन लेती भी है और छोड़ती भी है। अगर पूरे देश में गाय को राष्ट्रमाता का दर्जा मिला तो उत्तराखंड के अलावा और 20 राज्यों में गौवंश संरक्षण कानून नामक लागू होगा और इसके अतिरिक्त अगर कोई गौ हत्या करता है तो उसे कड़ी सजा मिल सकती है।

इस मुद्दे पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा है कि हम गाय को राष्ट्रमाता का सम्मान देने के प्रस्ताव का स्वागत करते है और उत्तराखंड को इस नेक कदम उठाने वाला पहला राज्य मानते हैं।