विकास दुबे का खासमखास हमीरपुर के मौदहा में ढेर, पुलिस एनकाउंटर में मारा गया
विकास दुबे का पूरा परिवार और रिश्तेदार बदमाश है, 25000 हज़ार का इनामी बदमाश विकास दुबे का भतीजा अमर दुबे एनकाउंटर में ढेर।
विकास दुबे का खासमखास हमीरपुर के मौदहा में ढेर, पुलिस एनकाउंटर में मारा गया
vikas dubey nephew amar dubey encounterUday Bulletin

यूपी पुलिस किसी भी हालत में विकास दुबे और उसके गुर्गों के लिए जमीन ठंढी नही रखना चाहती , पुलिस हर आरोपी के पैरों के निशान खोजकर उन्हें खत्म कर रही है, कमोबेश यही हाल विकास दुबे का भी है, उसका ही भतीजा अमर दुबे (25000 इनामी बदमाश ) पुलिस की हिटलिस्ट में था, नतीजन पुलिस ने खोज करके उसे मौत के आगोश में सुला दिया है।

पुलिस को सूचना मिली और काम खत्म:

चूंकि विकास दुबे का सबसे अहम जुड़ाव कानपुर से है और सजातीय शादियां होने की वजह से इनकी रिश्तेदारी इसी क्षेत्र में ज्यादा है। इसीलिए हमीरपुर और बांदा जिले पुलिस के रडार में शुरू से ही हैं। यूपी पुलिस और एसटीएफ को जानकारी मिली की अमर दुबे जिसके ऊपर यूपी पुलिस ने 25 हजार का इनाम घोषित किया हुआ है वह मौदहा कस्बे के आस-पास छिपा हुआ है। पुलिस ने जानकारी जुटाई तो पुख्ता सबूत मिले कि अमर दुबे मौदहा के बेहद पुराने और प्रशिद्ध इंटर कालेज "नेशनल इंटर कालेज " दिलेर शहीद बाबा की मजार के पास वाली सड़क पर है। पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त टीमें मौके पर पहुँचकर अमर को खोजने लगी और ललकारने पर अमर दुबे ने पुलिस पर फायर झोंक दिया जिसमें मौदहा कोतवाली प्रभारी मनोज शुक्ला को गोली लगी। पुलिस द्वारा जवाबी कार्यवाही में अमर थोड़ी ही देर बार ठंढा हो गया।

जगह को लेकर मतभेद:

लोगों ने जानकारी दी कि दोनों तरफ से कुछ देर गोलीबारी हुई है जिसमें अन्य पुलिसकर्मियों के घायल होने की जानकारी है। हालांकि इस मामले में स्थानीय पुलिस ने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया है।

कुछ लोगों के मुताबिक एनकाउंटर की जगह को लेकर भ्रांतियां है, पहले यह जानकारी मिली कि यह मुठभेड़ इंगोहटा गांव के मोड़ के पास हुई है और दूसरी अफवाह में यह बताया गया कि यह मुठभेड़ अतरार गांव के नजदीक हुई है। लेकिन अभी तक कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है जिसमें यह पुष्टि हो सके कि आखिर असल गोलीकांड हुआ कहां है?

शरण देने वालों की जानकारी नहीं:

चूंकि अमर दुबे बिना किसी पनाह के मौदहा नहीं आ सकता, इसीलिए सम्भव है कि अमर किसी रिश्तेदार या जानपहचान वाले के यहां रुकने की आशा से पनाह लेने के लिए आया हो, इसके बाद या तो खुद रुकवाने वाले ने मुखबिरी की शायद। इसीलिए पुलिस द्वारा स्थानीय मददगार का नाम उजागर नहीं किया जा रहा, जानकारों के मुताबिक अमर का एनकाउंटर तड़के चार बजे किया गया है।

इसी बीच सरकार ने मोस्ट वांटेड विकास दुबे पर इनामी राशि 2.5 लाख से बढाकर 5 लाख कर दी है

vikas dubey most wanted
vikas dubey most wantedUP government

विकास के भी हमीरपुर में होने की संभावना:

हालांकि अभी कल शाम को ही विकास के फरीदाबाद में होने के संकेत मिले थे लेकिन पुलिस इस बात पर भी आशंका जता रही है कि विकास हमीरपुर में भी हो सकता है, यूपी पुलिस हर प्रकार से विकास को शांत करने में लगी हुई है, उम्मीद है विकास के पकड़े जाने या मारे जाने की सूचना जल्द आ सकती है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com