उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Akhilesh Yadav meet injured of Kannauj accident
Akhilesh Yadav meet injured of Kannauj accident|ANI
देश

कन्नौज बस हादसा पीड़ितों से मिलने गए अखिलेश, अस्पताल पहुँच कर हुए लाल पीले, मेडिकल ऑफिसर को बुरी तरह लताड़ा। 

उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले में फरु खाबाद से गुरसहायगंज जा रही स्लीपर बस की जीटी रोड में ट्रक से भिड़त हो गई थी। हादसा इतना भीषण था की ट्रक का डीजल टैंक में फट गया, जिससे दोनों वाहनों में आग लग गई थी।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

अस्पताल में मौजूद मेडिकल ऑफिसर से अखिलेश बेहद नाराज होते नजर आ रहे है, अखिलेश को यह साफ़ कहते हुए सुना जा सकता है कि तुम बहुत छोटे कर्मचारी हो, यहाँ से दफा हो जाओ, मेडिकल ऑफिसर के अनुसार उसने केवल मरीज़ों की जानकारी को दुरस्त ही तो किया था।

आज का समय मुसीबत के समय भी वोट संख्या बढ़ाने का मौका है, जहाँ भी कोई आपदा होती है नेता लोग वहां अपनी राजनैतिक संख्या बढ़ाने की जुगत में लग जाते है, ठीक ऐसा ही कन्नौज के छिबरामऊ अस्पताल में हुआ है, दरअसल बीते दिनों कन्नौज छिबरामऊ के रास्ते पर एक बस में आग लग जाने से कई यात्री आग में जिंदा जल गए और कुछ लोग जान बचाने की कोशिश में गंभीर रूप से घायल भी हुए, इसके बाद घायलों को नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराया गया जहां उनका इलाज चल रहा है।

पूर्व सीएम का अस्पताल दौरा :

इसी मामले को लेकर पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव कन्नौज के छिबरामऊ सरकारी अस्पताल पहुँच गए जहां उन्होंने पीड़ितों की समस्या को जाना और सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं का मूल्यांकन किया। तभी एक घायल व्यक्ति के साथ बात करते समय अखिलेश यादव चिकित्सा अधिकारी से खफा हो बैठे, घायलों ने बताया कि अखिलेश भैया बस में सवारों की संख्या अस्सी थी, लेकिन जब मेडिकल आफिसर ने सरकारी आंकड़े बताये तो अखिलेश बिफर पड़े, अखिलेश ने कहा कि तुम सरकार का पक्ष नहीं ले सकते। तुम बेहद अदने से कर्मचारी हो, तुम क्या आरएसएस से हो या भाजपा से हो, यहाँ से निकल जाओ, तुरंत दफा हो जाओ।

मामला घायलों की राहत राशि से जुड़ा हुआ था:

हालांकि इस बारे में चिकित्सा अधिकारी ने यह साफ किया कि ये मामला राहत राशि से जुड़ा हुआ है, मेडिकल अधिकारी ने बताया कि जब अखिलेश यादव घायलों से राहत राशि मिलने की जानकारी ले रहे थे तब कुछ लोगों ने यह बात कही की उन्हें राहत राशि नही मिली है, जबकि सच यह है कि सबको राहत राशि चेक के माध्यम से दी जा चुकी है, चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि श्री अखिलेश यादव द्वारा मेरे निवास स्थान को लेकर भी कमेंट किये गए है , उनको मेरे निवास स्थान गोरखपुर को लेकर शंका उत्पन्न हो रही है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।