ये है उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव का शहर, जहां अस्पताल भी शर्म से पानी-पानी हो रहे हैं।

मामला उत्तर प्रदेश के महोबा जिले से जुड़ा हुआ है, सनद रहे उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र तिवारी का यह ग्रह जिला है लेकिन जिला अस्पताल की यह हालात सरकार के रवैये को दर्शा देती है।
ये है उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव का शहर, जहां अस्पताल भी शर्म से पानी-पानी हो रहे हैं।
Flood Water Enters in mahoba district HospitalSocial Media

उत्तर प्रदेश के महोबा जिला अस्पताल के हाल बेहद डराने वाले हैं। अभी हाल में ही सोशल मीडिया के द्वारा कुछ तश्वीरें वायरल हुई है जो महोबा के जिला अस्पताल में ही स्थापित इमरजेंसी वार्ड की है जहां पर वार्ड समेत पूरा अस्पताल परिसर में किसी बाढ़ग्रस्त क्षेत्र का नमूना नजर आता है। तश्वीरों में साफ-साफ नजर आ राह है कि सभी मरीज़ों के बेड के नीचे लहराता हुआ पान है और सभी मरीज और तीमारदार बिस्तरों पर बैठने के लिए मजबूर हैं। याद रहे कि यह नजारा तब है जब शहर में हल्की सी बारिस हुई हैं अगर बारिस लंबी हो जाये तो मामला इससे भी भयानक हो सकता है।

Flood Water in mahoba district Hospital
Flood Water in mahoba district HospitalSocial Media

अस्पताल के उपकरण और अलमारी पानी में:

इमरजेंसी वार्ड में पानी घुसने का आलम कुछ इस तरह है कि वार्ड में उपस्थित सभी उपकरण और दस्तावेजों की अलमारी पानी मे डूबती हुई नजर आयी, कमोबेश यही हाल वार्ड के बाहर जिला अस्पताल के परिसर में नजर आया जहा पर लोग घुटनों तक पानी मे खड़े नजर आए। लोगों ने बताया कि वहां पर खड़ी गाड़ियों को निकालना भी बेहद मुश्किल था।

Flood Water in mahoba district Hospital
Flood Water in mahoba district HospitalSocial Media

मुख्य सचिव का शहर है ये:

जिला अस्पताल की यह हालत देखकर लोग व्यंग कसते हुए नजर आए की यह शहर उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव का शहर है जो ओहदे में मुख्यमंत्री के बाद ही माने जाते हैं और यह नेता वाला पद नहीं प्रशासन वाला पद है। अब अगर महोबा का यह हाल है तो बाकियों का क्या हाल होगा राम ही जाने।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com