एक सैनिक का इस तरह से रोना, सबको असहाय बना देता है

एक फौजी जिसके आंसू किसी की मौत पर बाहर नहीं निकलते लेकिन आज वह रोते हुए नजर आता है कि आज हम अपने पिता जी की जान नहीं बचा पाए, तो देश को क्या बचाएंगे?
एक सैनिक का इस तरह से रोना, सबको असहाय बना देता है
army man’s father killed in amethiSocial Media (Edited)

मामला उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले के अंतर्गत आने वाले संग्रामपुर थाना क्षेत्र में आने वाले गांव शुक्लपुर से जुड़ा हुआ है जहाँ पर देश की सेवा में तैनात भारतीय सेना के एक फौजी के पिता को गांव के दबंगो ने घर मे घुसकर मार डाला, सनद हो कि मृतक का पुत्र भारत की सीमा पुंछ में तैनात है।

दरअसल शुक्लपुर गांव निवासी राजेन्द्र मिश्रा उम्र लगभग 55 वर्ष अपने घर का निर्माण कार्य करा रहे थे जिसको लेकर पड़ोसी दबंग अशोक शुक्ला से जमीन के विवाद को लेकर कहा सुनी हुई थी लेकिन पुलिस में जानकारी देने के बाद मामला शांत था। मंगलवार की शाम जब राजेंद्र मिश्रा अपने घर पर निर्माण कार्य मे तराई कर रहे थे तभी छत के ऊपर से चढ़कर अशोक शुक्ला और अन्य लोगों ने घर में धावा बोल दिया और राजेंद्र मिश्रा के ऊपर धारदार हथियार से हमला किया। राजेन्द्र को मारकर आरोपियों ने घर की महिलाओं को भी नहीं बख्शा और गर्भवती बहू समेत अन्य महिलाओं को जान से मारने की नियत से हमला किया शोर मचाने पर हमलावर फरार हो गए।

पिता के खून से लथपथ भारतीय सेना का जवान, जो अपने परिवार की सुरक्षा की गारंटी मांगता है:

छलका फौजी का दर्द:

दरअसल देश का सैनिक किसी भी हाल में अपने देश के दुश्मन को जीवित नहीं देखना चाहता, उसका फर्ज है कि वह अपने देश वासियों की हिफाजत देश के दुश्मनों से करे लेकिन बदकिस्मती यह है कि राजेन्द्र मिश्रा के फौजी पुत्र सूर्य प्रकाश मिश्र मौके पर घर मे उपस्थित नहीं थे और यह वारदात हो गयी। सूर्य प्रकाश और अन्य लोग जब अपने घायल पिता और गर्भवती भाभी को लेकर अस्पताल पहुंचे तो वहां पर डॉक्टरों ने राजेन्द्र मिश्रा को मृतक करार दे दिया। इसके बाद फौजी अपने दर्द से ही टूट पड़ा उसके साफ शब्द थे "जब मैं अपने पिता को हत्यारों से नहीं बचा सकता तो मैं देश की सेवा क्या कर सकूंगा। मै अपने पिता को नहीं बचा पाया। ये करुण क्रंदन सरकार और स्थानीय पुलिस के ऊपर सवालिया निशान लगाता है

मामले में स्थानीय प्रशासन ने मृतक राजेन्द्र के शव का पंचनामा करके पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और सभी आरोपियों की धर पकड़ के लिए पुलिस टीमों का गठन कर दिया गया है। पुलिस ने आश्वासन दिया है कि सभी आरोपी जल्द ही पुलिस की गिरिफ्त में होंगे।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com