Etah Killing
Etah Killing|Uday Bulletin
देश

एटा हत्याकांड को सुलझाने का दावा, पुलिस के अनुसार महिला ने की हत्याएं

भले ही स्थानीय पुलिस इस मामले को सुलझाने का दावा कर रही हो, लेकिन लोग दबी जुबान में इस मामले को लेकर कुछ और बोलते नजर आ रहे है।लोगों के अनुसार अकेले ऐसा करना संभव ही नही। 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

पुलिस ने क्या कहा ? :

दरअसल बीते दिन परशुराम जयंती के दिन उत्तर प्रदेश के एटा जिले में एक ही घर के पांच सदस्यों के शव मिले थे जिंनमें एक साल के बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक शामिल थे। सभी लोगों के शव घर के अंदर ही पाए गए थे जब एक दूध पहुँचाने वाली महिला ने घर का दरवाजा खटखटाया तो वहां पर लोगों के शव दिखाई दिए। प्रथमदृष्टया ये सभी शव या तो किसी धारदार हथियार से काटे गए थे और कुछ लोगों को गला दबाकर ( रस्सी ) से मारा गया था। हालाँकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्थानीय पुलिस ने फोरेंसिक डिपार्टमेंट की जांच के आधार पर यह बयान दिया है कि इस हत्या में घर की बहू का ही हाँथ है। दरअसल पुलिस के अनुसार घर मे सल्फास ( खतरनाक कीटनाशक) और हार्पिक ( टॉयलेट साफ करने वाला एसिडिक लिक्विड) खाली पाया गया है। वहीँ मृतकों के शरीर मे भी इन तत्वों की बरामदगी हुई है।

लोगों का क्या कहना है :

अब चूंकि पुलिस यह कह रही है कि घर की बहू दिव्या पचौरी उम्र लगभग 35 वर्ष ने घर के सदस्यों में से ससुर राजेश्वर पचौरी उम्र लगभग 75 वर्ष, बेटा आयुष पचौरी उम्र 8 वर्ष, छोटा बेटा छोटू उम्र एक वर्ष से भी कम और दिव्या की बहिन बुलबुल उपाध्याय उम्र लगभग 26 वर्ष को पहले तो खाने में जहर (सल्फास और हार्पिक) खाने में मिलाकर खिलाया और बाद में लोगों के गले ब्लेड से काटे और कुछ लोगों की हत्या गला दबाकर की। ये बात लोगों के गले नहीं उतर रही है। लोगों के अनुसार हत्या करने के लिए पुलिस ने मोटिव बताया है कि वह अपने पति के साथ रुड़की में सेटल होना चाहती थी वह इतना पर्याप्त नही है कि कोई अपने परिवार की हत्या कर दे। वहीँ दिव्या का खुद अपनी बहन, और बच्चों को मारना हजम नहीं हो रहा। लोगों द्वारा अन्य कयास भी लगाए जा रहे हैं। पुलिस की इस थ्योरी पर मृतका और हत्यारोपी के पति ने भी सवाल उठाये है और उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।

हालांकि पुलिस इस मामले को लेकर हर एंगल से जांच कर रही है वहीँ स्थानीय लोगों और मृतक राजेश्वर पचौरी के बड़े भाई ने इस मामले में पुलिस द्वारा लीपापोती करने और उलझाने का आरोप लगाया है। लोगों के अनुसार पुलिस लॉक डाउन की वजह से मनमानी कर रही है, वहीँ पुलिस ने पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी करा के विसरा सुरक्षित रख लिया है, मामले की तहकीकात आगे चलती रहेगी।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com