बाँदा पुलिस कोतवाली और चौकी का घेराब करते हुए भाजपाई।
बाँदा पुलिस कोतवाली और चौकी का घेराब करते हुए भाजपाई।|Uday Bulletin
देश

वाहन चेकिंग के दौरान पुलिसकर्मी ने भाजपा जिलाध्यक्ष के बेटे पर उठाया हाँथ, भाजपाई धरने पर बैठे ! 

मामला सत्ता से जुड़ा हुआ है, तो हाइप हो गया नहीं तो पुलिसकर्मी आम आदमी से बिना माँ-बहन के बात ही नहीं करते इसका ताजा नमूना बाँदा में देखने को मिला जहां सत्तारूढ़ पार्टी और पुलिस के बीच तीखी तकरार हुई है

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

वाहन चेकिंग और थप्पड़ :

दरअसल 16 मार्च के दिन बाँदा जिले में वाहन चेकिंग अभियान चलाया गया जिसके तहत हेलमेट, सीटबेल्ट, और ड्राइविंग लाइसेंस समेत तमाम मामलो में चेकिंग हुई। लेकिन यह माहौल तब अचानक से खराब होता गया जब वर्तमान भाजपा जिलाध्यक्ष रामकेश निषाद के पुत्र को पुलिस ने चेकिंग के लिए रोका और किसी बात को लेकर बहस इस कदर बढ़ी की पुलिसकर्मी ने जिलाध्यक्ष के लड़के को थप्पड़ जड़ दिया। इसको लेकर मामला बहुत ज्यादा बिगड़ गया और भाजपाई अपनी ही सरकार में पुलिस चौकी और कोतवाली में धरने पर बैठ गए।

पुलिस ने किया लाठी चार्ज :

पुलिस लाठीचार्ज में घायल।
पुलिस लाठीचार्ज में घायल।
Uday Bulletin 

दरअसल यह मामला इस कदर बिगड़ गया कि भाजपा समर्थकों ने जिले की तमामं जगहों पर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिए जिसमे बाँदा हमीरपुर सीमा पर स्थित तहसील पैलानी डेरा भी शामिल रही और शहर के अंतर्गत महाराणा प्रताप सिविल लाइन पुलिस चौकी का घेराव किया। पुलिस ने भीड़ को हटाने के लिए लाठी चार्ज भी किया जबकि भाजपाइयों के द्वारा एक ही मांग थी कि सिविल लाइन चौकी इंचार्ज को सस्पेंड किया जाए और उक्त सिपाही को बर्खास्त किया जाए हालाँकि शाम होते-होते जिले के आला अधिकारियों ने पार्टी के प्रतिनिधियों के साथ बैठकर उक्त पुलिसकर्मी के ऊपर कार्यवाही करने का आश्वासन देकर मामले को शांत कराया। लेकिन पार्टी के जिलाध्यक्ष के लड़के को थप्पड़ मारने की घटना आसपास के जिलों में चर्चा का विषय रही।

लोगों ने स्थानीय पुलिस पर लगाये आरोप :

Overload Tractor
Overload Tractor
Uday Bulletin

आंदोलन में शामिल भाजपाइयों के अनुसार जिले में पुलिस की मदद के दम से बिना किसी रोक-टोक के ओवरलोड वैध और अवैध रेत ढोते हुए ट्रैक्टर नजर आते है उसके बाद भी पुलिस इन पर कार्यवाही करने से बचती है। लेकिन अगर आप बिना हेलमेट गाड़ी चला रहे है तो यह राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय बना दिया जाता है। मौके पर मौजूद लोगों ने पुलिस द्वारा थप्पड़ मारने के प्रकरण को रिश्वत न देने का गुस्सा भी बताया है, लोगों ने पुलिस पर आरोप लगाए की उक्त पुलिसकर्मी ने लड़के से पैसो की मांग की थी।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com