लॉक डाउन 2.0 की वजह से सीमाओं पर बढ़ी चौकसी, सभी सीमाएं सील 

इस दौरान जिले के एसपी और जिलाधिकारी ने जिले की सीमाओं का दौरा किया, लोगों ने मास्क न लगाने पर अधिकारियों को दी सीख। 
लॉक डाउन 2.0 की वजह से सीमाओं पर बढ़ी चौकसी, सभी सीमाएं सील 
DM and SP Banda District Border InspectionTwitter

लॉक डाउन का दूसरा चरण :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 मार्च को कोरोना की भयावहता को रोकने के लिए उन्नीस दिन लंबे दूसरे लॉक डाउन की घोषणा कर दी। पहले लॉक डाउन के आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश मे समान रूप से लागू इस राष्ट्रव्यापी लॉक डाउन को और कड़ा और प्रभावी बनाने की बात कही ताकि इस वायरस के फैलाव को रोका जा सके। चूँकि बाँदा उत्तर प्रदेश का वह सीमावर्ती जिला है जिसकी सीमाएं एक लंबे क्षेत्र में मध्यप्रदेश से मिलती है। इसलिए बाहर से कोई व्यक्ति जिले की सीमा में प्रवेश न कर सके इसके लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सीमाओं को बैरिकेडिंग लगा कर सील किया गया है। 14 अप्रैल की शाम में ही जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक के साथ कई स्थानों का दौरा किया।

अधिकारियों ने मास्क नहीं लगाए तो लोगों ने क्लास लगाई :

दरअसल जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने जिन-जिन स्थानों का दौरा किया वह वहां अपने दल बल के साथ गए लेकिन तश्वीरो में कहीं भी कोई अधिकारी मास्क लगाए नजर नहीं आया। लोगों को नाराजगी इस बात को लेकर हुई कि अगर जिले का मुखिया बिना मास्क के सार्वजनिक स्थलों पर जाएगा तो लोगों की प्रतिक्रिया क्या होगी? चूंकि जिले का हर एक व्यक्ति इन अधिकारियों से प्रेरित होता है तो ऐसे माहौल में अधिकारियों का मास्क न लगाना गलत सन्देश दे सकता है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com