संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हुए बच्चे, भूसे के ढेर से मिले दोनो के शव। 

बच्चों का अपहरण और संदिग्ध परिस्थितियों में शव पाये जाना तमाम सवाल खड़े करता है, लेकिन स्थानीय पुलिस और लोग इस मामले को बेहद सधी हुई जुबान से बोल रहे है। 
संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हुए बच्चे, भूसे के ढेर से मिले दोनो के शव। 
Mataundh Banda Children Disappeared and found DeadUday Bulletin 

बाँदा जिले के मटौन्ध थाना क्षेत्र की स्थानीय रिपोर्टिंग पुलिस चौकी भूरागढ़ के परिक्षेत्र में आने वाले गांव बाबू पुरवा में दो बच्चों के गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस के पास पहुंची, पुलिस ने अपनी जगजाहिर लेटलतीफी को प्रस्तुत करते हुए जांच शुरू की, लंबी खोजबीन के बाद बच्चों के शव नजदीक के भूसे के ढेर में मिले, इस घटना को लेकर पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी, पुलिस ने दोनो बच्चों के शवों को लेकर परीक्षण के लिए भेज दिया है। मामले को लेकर लोग तमाम प्रकार की आशंकाएं व्यक्त कर रहे है.

मामला कहीं जमीनी विवाद का तो नही :

मामले को लेकर पुलिस और स्थानीय निवासी इसे आपसी रंजिश और हिस्सेदारी का मामला मान कर चल रहे है, हालांकि स्थानीय निवासियों ने मृतक बच्चों के परिवार में ऐसे किसी मामले को लेकर इनकार किया है, लोगों ने बताया कि मृतक बच्चों के माता-पिता की किसी से कोई ऐसी रंजिश नही है जिसको लेकर इतनी बड़ी घटना को अंजाम दिया जाए, वहीँ कुछ लोग इसे बच्चा चोरी की घटना से जोड़कर चल रहे है जिसको पुलिस बेहद निजी थ्योरी मान रही है।

नरबलि का किस्सा तो नही है :

हालांकि अगर पिछले घटनाक्रम को देखे तो पूरे क्षेत्र में ऐसा कोई उदाहरण नहीं मिलता की इस जिले या क्षेत्र में नरबलि और तांत्रिक क्रियाओं जैसी कोई घटना को अंजाम दिया गया हो, फिर भी पुलिस दोनो बच्चों की म्रत्यु की जांच को इस कोण से जोड़कर भी चल रही है ताकि जांच में कोई कसर न रह सके, आपको बताते चले कि देश की तमाम जगहों पर अबोध बालको की बलि की ख़बरें यदा-कदा आती ही रहती है वैसे भी मृतक बच्चों में से बड़े की उम्र लगभग 3।5 वर्ष और छोटे की बमुश्किल डेढ़ साल ही है, इस उम्र में बच्चों को बरगलाकर कहीं भी ले जाया जा सकता है, पुलिस इस बारे में ज्यादा पक्ष दे रही है कि ज्यादा चांस है कि बच्चों को कोई जान पहचान का ही व्यक्ति अपने साथ ले गया होगा।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com