उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Course books sold in the trash
Course books sold in the trash|Social Media
देश

कबाड़ में बेची गयी सरकारी किताबे, पकड़े जाने पर जांच बिठाने की बात की गई !

आखिर रद्दी में कौन बेंच रहा ये किताबें?

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

जनाब ये उत्तर प्रदेश है यहाँ खाने का इतना जुनून है कि की यहाँ चिकन पहना जाता है और खाया भी जाता है, खैर ये हुई बड़ी बात, ताजा मामले में बाँदा जिले के शिक्षा विभाग में मातहत बच्चों को मुफ्त में वितरित की जाने वाली सरकारी किताबे रद्दी के भाव बेचकर पैसा डकार लिया गया, मात्र 1140 रुपये में ।

हुआ ये कि बाँदा में लोगों ने कबाड़ी को अपनी ठेलिया पर नए सत्र की किताबें ले जाते हुए देखा, सोशल मीडिया पर किताबों के चित्र खींचकर डाला गया और फिर क्या था मामला उठ खड़ा हुआ, कबाड़ी से विक्रेता के बारे में पूंछताछ की गई तो कबाड़ी ने बताया कि इन किताबों के बदले उसने बेचने वाले को 1140 रुपये चुकाए है।

Course books sold in the trash
Course books sold in the trash
Social Media

आखिर कौन है किताबे बेचने वाला :

दरअसल जैसे ही नए सत्र की किताबें कबाड़ी को बेचने की बाते फैली विभाग के आला अधिकारी इसकी जांच करने के लिए मौके पर पहुँच गए और साथ ही कबाड़ी को समान सहित कब्जे में लेकर पूंछताछ शुरू कर दी, लेकिन मजे की बात यह है कि अभी तक किताबे बेचने वाले का सुराग ही नहीं चल सका है, लोगों की माने की तो ये किताबे या तो किसी विद्यालय के प्रधानचार्य ने बेची है या फिर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के कार्यालय से इनको बेचा गया है। लेकिन अभी इस मामले पर कोई शिक्षा विभाग का अधिकारी बोलते हुए नजर नही आ रहा।

इसी सत्र की है नई किताबे :

ज्ञातव्य हो कबाड़ी के पास जो किताबे बरामद की गई है उसमें वर्तमान सत्र की किताबें ही है, किताबो में हिंदी भाषा की करलव समेत अन्य विषय की किताबें सम्मिलित है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।