बाँदा में कोरोना का कहर टूटना तय, खुद पुलिसकर्मी उड़ा रहे सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

कोरोना के दौर पुलिस का काम है कि कहीं भी भीड़ न लगे लोग सामाजिक दूरी बनाये रखे लेकिन जब पुलिस खुद भीड़ का हिस्सा बन जाये तो कौन कराएगा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन
बाँदा में कोरोना का कहर टूटना तय, खुद पुलिसकर्मी उड़ा रहे सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां
No social Distancing in SBI Branch BandaUday Buletin

मामला बाँदा के एक राष्ट्रीयकृत बैंक से जुड़ा हुआ है जहाँ बीते दिनों में दो बैंक कर्मी कोरोना पाजिटिव पाए जा चुके है लेकिन यहां भीड़ कम होने का नाम नहीं ले रही है। खुद पुलिसकर्मी इस भीड़ में घुसकर सरकार द्वारा निर्धारित नियमों की धज्जियाँ उड़ा रहे है।

बैंको में लग रही है लंबी लाइन:

स्मरण रहे कि जिस बैंक में खुद कोरोना पाजिटिव निकल रहे है वहाँ ग्राहकों की भयानक भीड़ लगना कोरोना जैसी महामारी के प्रसार को दावत देने जैसा है। मामला बाँदा के प्रतिष्ठित राष्ट्रीयकृत बैंक से जुड़ा हुआ है जहां पर लगातार कोरोना के मामले सामने आए है लेकिन इसके बाद भी प्रशासन द्वारा इस बैंक के बारे में कोई गाइडलाइन जारी नहीं की गई है। बल्कि बैंक कर्मियों का कोविड टेस्ट कराकर काम जारी रखा है। इस मामले में अन्य कर्मियों की जांच रिपोर्ट अभी तक प्राप्त नहीं हुई है।

बैंक को कोरोना प्रसार के मद्देनजर बन्द भी नही किया गया:

चूंकि एक बैंक कर्मी के संक्रमित पाए जाने के बाद बैंक का पूरी तरह सेनेटाइजेशन करना अनिवार्य है लेकिन प्रशासनिक उदासीनता के चलते बैंक न तो एक भी दिन के बंद किया गया न ही कोई सेनेटाइजेशन का कार्य कराया गया। आज दिन भर बैंक में ग्राहकों का आना जाना लगा रहा और भीड़भाड़ में कोई कमी नहीं देखी गयी।

पुलिस मौके पर मूकदर्शक बनी रही:

बैंक के अंदर लगी हुई भीड़ में पुलिस विभाग के कर्मी भी उपस्थित रहे लेकिन न ही उन्होंने लोगों को सामाजिक दूरी बनाने की सलाह दी और न ही खुद सामाजिक दूरी बनाते हुए नजर आए बल्कि पुलिसकर्मियों के द्वारा इस भीड़ को और अव्यवस्थित करते हुए देखा गया।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com