कांग्रेस को देश मे चुनाव जीतने से पहले खुद की पार्टी को जीतना होगा

बिहार चुनाव में मिली करारी हार अब कांग्रेस में अंतर्कलह का कारण बन रही है।
कांग्रेस को देश मे चुनाव जीतने से पहले खुद की पार्टी को जीतना होगा
कांग्रेस मे अंतर्कलहउदय बुलेटिन

अगर बीते कुछ वर्षों के परिदृश्य पर नजर डाले तो भारत का सबसे पुराना राजनीतिक दल कांग्रेस बेहद पेशोपेश में दिखाई पड़ता है। कभी भारत विरोधी बयानों के चलते पार्टी मुश्किल में पड़ती हुई नजर आती है तो कभी पार्टी के अंदर चलती कलह कांग्रेस को कई बार बगले झांकनी पड़ी है। इस बार फिर से कांग्रेस में बवाल शुरू हुआ है। पार्टी कई गुटों में बटती हुई नजर आरही है।

आचार्य प्रमोद कृष्ण और कपिल सिब्बल ने खोला मोर्चा:

ताजा मामला कांग्रेस की बिहार में करारी हार से जुड़ा हुआ है दरअसल बिहार में कांग्रेस की हार ने कांग्रेस के अंदरूनी स्तर पर फिर से मंथन करने वाली बहस को जन्म दे दिया है। बीते दिनों में कांग्रेस के दिग्गज नेता कपिल सिब्बल और कांग्रेस के प्रवक्ता प्रमोद कृष्णन ने इस मुद्दे को हवा दे दी है।

कांग्रेस के बेहद पुराने नेता कपिल सिब्बल ने अपने एक इंटरव्यू में इस बात को उजागर किया कि देश भर में होने वाले चुनावों में अगर कांग्रेस कुछ अच्छा नहीं कर पा रही तो इसकी सीधी जिम्मेदारी कांग्रेस नेतृत्व की आती है। कांग्रेस में बदलाव की जरूरत है इस बहस को लेकर सोनिया गांधी गुट से कपिल सिब्बल के खिलाफ आवाजे उठना शुरू हो चुकी है।

बड़े मंचो पर भी कपिल सिब्बल को बेइज्जत करना शुरू कर दिया गया है लेकिन इन हमलों के बाद कपिल ने साफ शब्दों में इस बात का जवाब दिया है कि " मेरा विरोध गांधी परिवार से नहीं है बल्कि मेरी आवाज कांग्रेस कार्यकर्ताओं की है"

कपिल सिब्बल ने एक इंटरव्यू में यहाँ तक कह दिया कि कांग्रेस करीब डेढ़ साल से बिना अध्यक्ष के कार्य कर रही है। जिसके बाद ही सारा बवाल होना शुरू हुआ।

आचार्य प्रमोद ने कांग्रेस की कमान प्रियंका गांधी वाड्रा को देने की बात कही

सलमान खुर्शीद ने कहा कि लोग नेत्रहीन है:

मामले पर कांग्रेस के दूसरे बड़े नेता सलमान खुर्शीद की भी प्रतिक्रिया सांमने आयी है। सलमान ने अपने बयान में यह जानकारी दी है कि अगर किसी को पार्टी में बनाया गया अध्यक्ष नजर नहीं आता तो वह नेत्रहीन है लेकिन मजे की बात यह रही कि सलमान सीधे तौर पर सिब्बल पर हमला करने से बचते नजर आये।देखना यह है कि कांग्रेस पार्टी की अंदरूनी कलह किस मोड़ पर ले जाती है।

देखना यह है कि कांग्रेस पार्टी की अंदरूनी कलह किस मोड़ पर ले जाती है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com