उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 प्रधानमंत्री मोदी
प्रधानमंत्री मोदी|Google
देश

कांग्रेस ने दी प्रधानमंत्री मोदी को चुनौती कहा ‘अगर आप डरे हुए नहीं हैं, तो फिर राफेल सौदे में जेपीसी से जांच क्यों नहीं करवाते

संसद के दोनों सदनों में कांग्रेस ने संयुक्त संसदीय समिति (JPC) जांच की मांग उठाई है। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: फ्रांस से राफेल विमान खरीद सौदे में हुए कथित गड़बड़ी के आरोपों से सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को क्लीन चिट दे दी है। जिसके बाद संसद के दोनों सदनों में कांग्रेस ने संयुक्त संसदीय समिति (JPC) जांच की मांग उठी है।

दरअसल कांग्रेस ने शुक्रवार को सर्वोच्च न्यायालय की ओर से राफेल विमान मामले में जांच की याचिकाओं को खारिज करने के बावजूद इस मामले की संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच कराए जाने की अपनी मांग को दोहराया। कांग्रेस ने इस मुद्दे पर अपना सख्त रवैया कायम रखा है और जांच कराये जाने की मांग की है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पत्रकारों से कहा कि विमान सौदे में भ्रष्टाचार हुआ है।

सुरजेवाला ने कहा, "सौदे में बहुस्तरीय भ्रष्टाचार हुआ है। हम जानते हैं कि सर्वोच्च न्यायालय के पास सभी पहलुओं पर विचार करने की शक्ति नहीं है। इसलिए कांग्रेस मामले में कभी भी सर्वोच्च न्यायालय नहीं गई।"

उन्होंने कहा, "मैं जेपीसी जांच के लिए नरेंद्र मोदी को चुनौती देता हूं। अगर आप डरे हुए नहीं हैं, तो फिर जेपीसी से जांच क्यों नहीं करवाते। सरकार को यह बताना होगा कि क्यों प्रति विमान कीमत 526 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,670 करोड़ रुपये हो गई।"

सुरजेवाला ने कहा कि सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय में सौदे के बारे में 'अधूरी' जानकारी दी।

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने राफेल सौदे के बारे में कहा कि अरबों डॉलर कीमत के राफेल सौदे में निर्णय लेने की प्रक्रिया पर संदेह करने का कोई कारण नहीं है। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि लड़ाकू विमानों की खरीद की प्रक्रिया में हस्तक्षेप करने का कोई कारण नहीं है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद इस मुद्दे पर राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में शून्य काल के दौरान राफेल मामले में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के संदर्भ में कहा, "राजनीतिक फायदे के लिए कांग्रेस ने देश को गुमराह करने की कोशिश की और देश की छवि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर धूमिल की।"

उन्होंने कहा, "कांग्रेस क्योंकि खुद ही भ्रष्टाचार में संलिप्त हैं, वह ऐसे आरोपों से बचने के लिए भाजपा को भी इन आरोपों में घसीटना चाहती है। ऐसी सोच के साथ, उन्होंने सरकार को अपमानित करने की कोशिश की और देश की अंतर्राष्ट्रीय छवि को नुकसान पहुंचाया।"