योगी सरकार का एक्शन, नियमों को ताक पर रखकर किये गए प्रोमोशनो को किया रद्द, भेजा बैरंग

अधिकारियों को डिमोट कर बनाया चपरासी और चौकीदार, भ्रष्टाचार के खिलाफ CM योगी एक्शन में
योगी सरकार का एक्शन, नियमों को ताक पर रखकर किये गए प्रोमोशनो को किया रद्द, भेजा बैरंग
योगी सरकार का एक्शनGoogle Imgae

भला आप ये भी सोच सकते है कि राजनीतिक रहमोकरम पर किसी विभाग का चपरासी जिले का अपर सूचना अधिकारी भी बनाया जा सकता है? लेकिन ऐसा हुआ है, लोग बाकायदा राजनीतिक दबाव के चलते इन पदों पर बैठकर नियम कानूनों को लगातार ठेंगा दिखा रहे थे।

पूर्व सत्ता के करीबी थे कर्मचारी:

योगी सरकार ने नियमों का उल्लंघन करके पूर्व की सरकारों द्वारा अपने चहेते कर्मचारियों को जिस तरह बड़े पद बांटे थे। अब योगी सरकार ने अपना चाबुक चला कर उन्हें अपनी पुरानी पोस्ट पर भेज दिया है। इसके अलावा सरकार ने इस तरह की सभी मामलों में बेहद सख्ती बरतने की सलाह दी है, मुख्यमंत्री के आदेशों के बाद उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में इस तरह के कर्मचारियों की लिस्ट बनाई जा रही है जिन्होंने सत्ता के दबाव के चलते अपनी योग्यता से अधिक पद पर कब्जा बनाया हुआ था। योगी के आदेश के बाद पूरे प्रदेश के कर्मचारियों में हड़कंप सी स्थिति पैदा हो चुकी है।

योगी सरकार का एक्शन
योगी सरकार का एक्शनUP Government

चपरासी बने थे अपर जिला सूचना अधिकारी:

जिले का ऐसा पद जिसे जिले स्तर पर प्राथमिक तौर पर आने वाली सभी आवेदनों के हिसाब से सूचना देनी होती है, ऐसे पद को चपरासी और चौकीदार हैंडल कर रहे थे, प्रदेश के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा अभी तक चार ऐसी जगहों पर कार्यवाही की गयी है जहाँ पर ये गड़बड़ियाँ चल रही थी।

  1. नरसिंह: जो मूलतः चपरासी है लेकिन इनके द्वारा बरेली जिले का अपर जिला सूचना अधिकारी का पद सँभाला जा रहा था

  2. दयाशंकर: मूल रूप से चौकीदार लेकिन इनके द्वारा फिरोजाबाद के अपर जिला सूचना अधिकारी का काम किया जा रहा था

  3. विनोद कुमार शर्मा: मूल पद-सिनेमा ऑपरेटर, कार्यरत जिला अपर सूचना अधिकारी मथुरा

  4. अनिल कुमार सिंह: मूल पद-सिनेमा ऑपरेटर, कार्यरत अपर जिला सूचना अधिकारी भदोही

उत्तर प्रदेश सरकार के निर्देश पर विभाग ने तत्काल प्रभाव से उक्त लोगों को अपने मूल पद में लौटने का आदेश जारी किया है

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com