उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
GST
GST|Google
देश

एक बार फिर से GST में हुआ बदलाव, जानें क्या हुआ सस्ता और क्या हुआ महंगा ? 

देश की आर्थिक स्थिति से हर कोई वाकिफ है, हम सभी जानते हैं कि कितनी मंदी वाला समय चल रहा है ऐसे में GST रेट में हुए बदलाव से किसपर कितना असर होगा ये तो वक्त ही बताएगा।

Puja Kumari

Puja Kumari

GST यानि Goods and Services Tax, इसके बारे में आपने पहली बार तब सुना होगा जब यह देशभर में लागू हुआ था। पहली बार यह सर्विस हमारे देश में 1 जुलाई 2019 को लागू किया गया और इस दौरान गया की यह "वन नेशन वन टैक्स" है यानी कि "एक देश में एक टैक्स"। पर चिंता वाली बात तो ये थी कि जिस दिन से यह लागू हुआ उसी दिन से लगातार इसपर के सारे सवाल खड़े होते रहे।

कई बार इसके टैक्स स्लैब को लेकर विवाद हुआ तो कई बार इसके लागू करने के तरीकों को लेकर, वैसे यह कहना भी गलत नही होगा कि जब से यह लागू हुआ तब से लेकर अब तक हमेशा ही इसके टैक्स स्लैब में बदलाव आते ही रहे हैं। इस बार GST कॉउंसिल की 37वी बैठक 20 सितम्बर 2019 को गोवा में रखा गया जहां वित्त मंत्री सीतारमण भी मौजूद थीं, इस मीटिंग के समाप्त होते ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मीडिया के साथ कुछ जानकारी साझा की।

यह जानकारी बेहद खास थी क्योंकि इस बैठक में जो फैसले लिए गए उसके अनुसार GST में एकबार फिर से बदलाव किया गया है और इस बदलाव के कारण आमजनता की जेबों पर भी इसका गहरा असर पड़ेगा। कई सारी चीजें सस्ती होंगी तो को सारी चीजें महंगी भी होंगी। इसलिए आइये जानते है कि इस बदलाव से क्या हुआ है सस्ता और क्या हुआ है महंगा ?

GST
GST
Google

ये चीजें हुई सस्ती

- इस बदलाव के होने से होटल इंडस्ट्री को कुछ फायदे हुए हैं, जी हां क्योंकि अब 1000 रुपए तक का अगर आप कोई रूम बुक करते हैं तो उसमें किसी भी तरह का टैक्स नही लगेगा, लेकिन वही अगर आप 1001 रुपए से 7500 रुपए तक के कमरे बुक करते हैं तो आपको पहले 18% टैक्स देने होते थे जो कि अब सिर्फ 12% ही देना होगा।

- अगर आप किसी आउटडोर केटरिंग सर्विस को बुक करते हैं तो इसपर पहले 18% के GST लगते थेंन जिसे अब घटाकर 5% कर दिया गया है।

- एक विशेष तरह की पॉलीथिन जिसे पोपिलीन कहते है उसके पैकिंग पर 12% GST लगेगा जो को पहले कायदा लगता था।

- हीरे से संबंधित जो काम होते थे उनपर GST पहले 5% लगता था जिसे अब घटाकर 1.5% कर दिया गया।

- 10-13 सीटर डीजल व पेट्रोल गाड़ियां भी सस्ती होंगी, पहले इनपर 28% GST के साथ ज्यादा सेस भी लगता था लेकिन अब पेट्रोल गाड़ियों पर 1% औऱ डीजल गाड़ियों पाए 3% सेस लगेगा।

- इसके अलावा जितने भी बायो फ्रेंडली मैटेरियल हैं उनपर किसी भी तरह का कोई टैक्स नही लगेगा।

क्या हुआ महंगा

वैसे ड्रिंक जिनमे कैफीन मौजूद होता है वो महंगे हो जाएंगे, इनपर पहले 18% GST लगता था जिसे बढ़ाकर अब 28% कर दिया गया है। इतना ही नहीं इनपर 12% का सेस भी ऐड किया जायेगा। वैसे देखा जाए तो इस फैसले के बाद यही एक चीज है जो सबसे ज्यादा महंगी हुई है।वैसे एक और विशेष जानकारी आपको दे दें कि ये जो भी बदलाव हुए हैं वो 1अक्टूबर 2019 से लागू होंगे।