उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
मदरसा (प्रतीकात्मक चित्र)
मदरसा (प्रतीकात्मक चित्र)|Google
देश

मदरसे में नाबालिग की बेरहमी से हत्या

मदरसे के दो कर्मचारियों को हिरासत में लिया गया है।

Uday Bulletin

Uday Bulletin

उत्तर प्रदेश के एक मदरसे के छात्रावास में मंगलवार रात को एक 10 वर्षीय छात्र की सोते समय चाकू घोंपकर और गला काटकर हत्या कर दी गई। गंभीर हालत में कक्षा चार के छात्र को मेरठ के मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया। अपराध के पीछे का मकसद स्पष्ट नहीं है।

इस निर्मम हत्या में अंदरूनी लोगों की भूमिका पर संदेह करते हुए, स्थानीय पुलिस ने पूछताछ के लिए मदरसे के दो कर्मचारियों को हिरासत में लिया है।

सूत्रों के मुताबिक, खून के निशान सीधे एक मदरसा के कर्मचारी के कमरे तक पाए गए और वहां ऐसा दिखा कि खून के धब्बे मिटाने की कोशिश की गई है।

अपराध में मदरसे की रसोई का चाकू इस्तेमाल किया गया था, और इसे बाद में मदरसे के पास के एक खेत से बरामद किया गया था।

मदरसे के एक कर्मचारी ने कहा, "जब हमला हुआ तब हॉल में 17 छात्र थे। वे सभी सो रहे थे। हमलावरों ने कमरे में घुसकर छात्र का गला काट दिया और उसे चाकू मार दिया। इस बीच एक छात्र के जग जाने और मदद के लिए चिल्लाने पर हमलावर भाग गए।"

चीख-पुकार सुनकर मदरसा के अन्य कर्मचारी जाग गए और हॉल में पहुंचे।

मदरसा के प्रिंसिपल बच्चे को नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (Community Health Centers) ले गए, जहां से उसे मेरठ के मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया गया।

पुलिस अधीक्षक (superintendent of police) विपिन ताडा और गजरौला स्टेशन हाउस ऑफिसर (एसएचओ) डी.के. शर्मा मदरसा पहुंचे और जांच शुरू की। उन्होंने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

एसपी टाडा ने कहा, "पुलिस ने एक मामला दर्ज किया है और शक के आधार पर मदरसे के दो लोगों को हिरासत में लिया है। एक संदिग्ध के कमरे के फर्श पर खून के धब्बे थे। अपराधी ने इसे पानी से साफ करने की कोशिश की थी। हमें शक है कि मदरसे का ही कोई व्यक्ति हमले में शामिल है। हमले के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है।"

मदरसे में लगभग 200 छात्र हैं।