चुनाव स्पेशल: मध्यप्रदेश में खिला कमल, बिहार में एनडीए ने बरकरार रखी अपनी बढ़त

भाजपा ने एक बार फिर सबको बता कि क्यों वह इस देश की सबसे बड़ी पार्टी है। बिहार और मध्यप्रदेश दोनो जगह कांग्रेस को मुँह की खानी पड़ी है।
चुनाव स्पेशल: मध्यप्रदेश में खिला कमल, बिहार में एनडीए ने बरकरार रखी अपनी बढ़त
BJPUday Bulletin

देश मे चल रहे कोरोना काल मे भी हुए चुनावो में भाजपा का सिक्का बराबर चलता नजर आया है। एक ओर जहां बिहार के पंद्रह साल के विरोधी लहर को भी जनता के द्वारा नकारा गया वहीं मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस को तगड़ी पटखनी देकर अपना रिपोर्ट कार्ड पेश कर दिया है। हालांकि चुनाव में ईवीएम हैकिंग के साथ-साथ चुनावी मिलीभगत के आरोपो का भी नजारा देखने को मिला।

कांग्रेस का मध्यप्रदेश में सरकार बनाने का सपना टूटा:

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि सत्य परेशान हो सकता है लेकिन पराजित नहीं, कांग्रेस के दम्भ, अहंकार, झूठ फरेब की राजनीति को मध्यप्रदेश की जनता ने नकार दिया है। सनद रहे कि मध्यप्रदेश में हुए उपचुनाव में देरशाम तक भाजपा ने 12 सीटो पर जीत हासिल कर ली है और अन्य 7 सीटो पर बढ़त बनाये हुए है वही इस उपचुनाव में कांग्रेस को अबतक 5 सीट जीतने का अवसर मिला और वही चार सीटो पर आगे चल रही है अगर बढ़त वाली सीटो को भी जीता हुआ माना जाय तो कुल मिलाकर भाजपा ने इस चुनाव में 19 सीटो पर कब्जा जमाया है। वहीं कांग्रेस को कुल मिलाकर 9 सीटो तक सीमित रहना पड़ रहा है।

देर रात तक चुनाव आयोग ने इन संभावित परिणामों को पूर्ण में बदल दिया और भाजपा के खाते में 19 सीटे और कांग्रेस के खाते में केवल 9 सीटे आयी और इसी के साथ कांग्रेस का मध्यप्रदेश में सरकार बनाने का सपना चकनाचूर होता हुआ नजर आया।

बिहार में जीत के बाद भी आरजेडी को विपक्ष में बैठना होगा:

देर रात तक बिहार में चलती उठापटक को चुनाव आयोग ने आंकड़े देकर शांत करा दिया। राज्य में आरजेडी सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद भी बहुमत के करीब नहीं पहुँच पाई। राष्ट्रीय जनता दल ने 75 सीटे जीत कर सबसे बड़ी पार्टी का खिताब जीता वहीं भाजपा 74 सीटो तक सिमटी लेकिन एनडीए के घटक दलों के द्वारा भाजपा सरकार बनाने के बहुमत के आंकड़े तक पहुँच गयी, भाजपा ने इस चुनाव में 74 सीटों पर हाँथ मारा, साथ ही नीतीश की पार्टी जनता दल यूनाइटेड ने 43 सीट जीतकर समीकरणों को बदल दिया। हालांकि अगर विश्लेषकों की बात माने तो इसे आरजेडी की जीत ही माना जाना चाहिए लेकिन कांग्रेस को बिना वजह इतनी ज्यादा सीट देना राजद के लिए आत्मघाती साबित हुआ।

कांग्रेस नेता उदित राज ने उदाहरण देकर बताया कि जब मंगल और चांद की तरफ जाते उपग्रह को धरती से नियंत्रित किया जा सकता है। तो ईवीएम हैक क्यो नहीं हो सकती ( हालंकि उदित राज ने उपग्रह को उपक्रम लिखा था)

आरजेडी ने आरोप लगाए कि उनके जीते हुए प्रत्याशियों को पहले जीता हुआ दिखाया गया बाद में उन्हें चुनाव आयोग के द्वारा सर्टिफिकेट नहीं दिए जा रहे है। यह लोकतंत्र / जनतंत्र में लूट है जो कभी नहीं चलेगी।

इस ट्वीट में राष्ट्रीय जनता दल ने एक लिस्ट भी जारी की है हालांकि उदय बुलेटिन इन तथ्यों की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है।

देश भर में जहां जहां चुनाव रहे है। भाजपा ने हर एक चुनाव में बहुमत साबित किया है। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शुभकामनाएं दी।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com