उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा
भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा|google
देश

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा आरोप, ‘कांग्रेस का हाथ क्रिश्चियन मिशेल मामा के बचाव के साथ’

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने आज गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विपक्षी पार्टी कांग्रेस पर जमकर हमला किया है।

Uday Bulletin

Uday Bulletin

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने आज गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विपक्षी पार्टी कांग्रेस पर जमकर हमला किया है। पात्रा ने दवा किया है कि अगस्ता-वेस्टलैंड मामले (Agusta Westland Chopper Deal) में कांग्रेस का हाथ है। संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि अगस्ता-वेस्टलैंड के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल के भारत में लैंड करते ही कांग्रेस के सारे वकील बचाने में लग गए। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि क्रिश्चियन मिशेल मामले से जुड़े एक वकील को पार्टी से बाहर करना, कांग्रेस का महज एक ड्रामा है। जोसफ को 'किसी' ने केस लड़ने को कहा। आखिर यह 'किसी' कौन है? 10 जनपथ के कहने पर मिशेल को बचाने की कोशिश की जा रही है।

संमित पत्रा, ने कहा अलजो जोसेफ के अलावा, क्रिस्टियन मिशेल के दो अन्य वकील हैं, विष्णु शंकर जो केरल कांग्रेस नेता और श्रीराम पराककट के पुत्र हैं, और एनएसयूआई सदस्य रहे हैं। इन तीनों वकील ने सलमान खुर्शीद और कपिल सिब्बल जैसे बड़े कांग्रेस वकीलों के अंदर काम किया है।

संबित पात्रा ने कहा कि 'कांग्रेस का हाथ क्रिश्चियन मिशेल के बचाव के साथ। ये साफ है कि मामा क्रिश्चियन मिशेल को बचाने का भरपूर प्रयास कर रही है कांग्रेस पार्टी। उन्होंने कहा कि 10 जनपथ इस मामले में अपने लोगों को मिशेल के टच में रखना चाहती है। मिशेल के प्रत्यार्पण के बाद से ही कांग्रेस पार्टी घबराई हुई है। यही वजह है कि वह अपनी टीम को मिशेल को बचाने के लिए भेज रही हैं।

बता दें कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने 3600 करोड़ रूपये के अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर सौदे (Agusta Westland Chopper Deal) के कथित बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल जेम्स को बुधवार को पूछताछ के लिए पांच दिन की सीबीआई हिरासत में भेजने का फैसला सुनाया है। क्रिश्चियन मिशेल को सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया गया था। सीबीआई ने सबूतों का आमना-सामना कराने के लिए मिशेल को हिरासत में लेकर पूछताछ करने की अनुमति देने की मांग की। सीबीआई ने कहा कि वह घोटाले की रकम के प्रवाह का भी पता लगाना चाहती है।