Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
 ‘द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर’ (The Accidental Prime Minister)
‘द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर’ (The Accidental Prime Minister) |Amazon
देश

बीजेपी नेताओं ने गृह मंत्री से कि ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के कास्ट एंड क्रू को सुरक्षा देने की मांग 

पूर्व PM डॉ. मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) के मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू (Sanjay Baru) की किताब पर बनी फ़िल्म ‘द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर’ (The Accidental Prime Minister) पर सियासत गरमा गई है 

Uday Bulletin

Uday Bulletin

नई दिल्ली: पूर्व प्रधान मंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह (Dr. Manmohan Singh) के 2004 से 2009 तक मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू (Sanjay Baru) द्वारा लिखे गई विवादित किताब 'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर' (The Accidental Prime Minister) के ट्रेलर रिलीज़ होते ही सियासत गरमाई हुए है। कांग्रेस जहां इसे बीजेपी (BJP) की राजनीतिक साजिस बता रही है वहीं दूसरी और बीजेपी (BJP) इस फिल्म का प्रचार करते नज़र आ रही है। बीजेपी ने अपने ऑफिसियल ट्विटर हैंडल से अनुपम खैर की फिल्म 'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर' (The Accidental Prime Minister) का ट्रेलर रीट्वीट किया है।

फिल्म के ट्रेलर रिलीज़ होने के बाद अब बीजेपी से 'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर' (The Accidental Prime Minister) के कलाकार, निर्माता, निदेशक और पूरी टीम को सुरक्षा देनी की मांग उठ रही है। अलीगढ बीजेपी (BJP) के मीडिया प्रभारी नितीश शर्मा ने पत्र लिख कर गृह मंत्री राजनाथ सिंह से 'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर' (The Accidental Prime Minister) की पूरी टीम को सुरक्षा देने की बात कहीं है।

बीजेपी नेता नितीश शर्मा ने राजनाथ सिंह को 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' के खिलाफ बढ़ाते विरोध से अवगत कराते हुए पत्र लिखा कि जिस प्रकार पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ( Dr. Manmohan Singh) के जीवन पर बनी फिल्म 'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर' पर कांग्रेस सहित अन्य राजनीतिक दल विरोध कर रही है वह विचलित कर देने वाला आपसे अनुरोध है कि आप फिल्म के कलाकार ,निर्माता , निर्दशक को फिल्म रिलीज़ होने तक प्रमोशन के समय उचित सुरक्षा प्रदान करें। साथ ही प्रत्येक जिले के सिनेमा घर मर उचित सुविधा उपलब्ध कराई जाए।

'द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर' (The Accidental Prime Minister) के ट्रेलर को देख कर यह साफ नज़र आ रहा है कि इस फिल्म के माध्यम से कांग्रेस, सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी पर निशाना साधा गया है। यह फिल्म जिस किताब पर आधारित है वह मनमोहन सिंह (Dr. Manmohan Singh) के प्रधानमंत्री रहे UPA-1 के कार्यकाल को दिखाएगी।