Chandrashekhar Azad Ravan Political Party Formation
Chandrashekhar Azad Ravan Political Party Formation|Google
देश

आखिर फिर एक आंदोलन राजनीति के दलदल में फसने जा रहा है। 

एक और राजनितिक दल बनेगा।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

आपको जंतरमंतर पर अन्ना के नेतृत्व में हुआ आंदोलन तो याद ही होगा। उसके बाद देश मे एक उम्मीद सी जगी थी, लेकिन उसके बाद आंदोलन के बीच से ही एक राजनीतिक विकल्प की घोषणा हुई जिसमें अरविंद केजरीवाल ने कुमार विश्वास जैसे युवा कवि के सानिध्य में एक राजनैतिक दल की घोषणा की और देश के सामने एक पार्टी का उदय हुआ जिसका नाम आम आदमी पार्टी रखा गया और उसके बाद ही ये आंदोलन लगभग समाप्त सा हो गया। इसी तर्ज पर दलितों की वकालत करने वाले भीम आर्मी ने भी अपना पैंतरा खेल दिया है। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने भी अब एक राजनैतिक दल के बनाने की घोषणा कर दी है।

पंद्रह मार्च को होगी घोषणा :

भीम आर्मी प्रमुख ने लखनऊ के दौरे पर इस बात के पुख्ता संकेत दिए है कि पंद्रह मार्च को भीम आर्मी एक राजनैतिक दल के रूप में स्थापित हो सकती है। इसी क्रम में चंद्रशेखर ने 2022 में उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों में भागीदारी करने का निर्णय लिया है। इसी चक्कर मे भीम आर्मी प्रमुख ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर से मुलाकात करके आगे की रणनीतिक निर्धारित की। भीम आर्मी प्रमुख ने अपने वक्तव्य में यह जानकारी दी कि पहले वह राजनैतिक दल की घोषणा दिसंबर में करना चाहते थे लेकिन सीएए के विरोध के कारण इस विचार को थोड़े देर के लिए दूर रखना पड़ा।

महत्त्वाकांक्षा नहीं मजबूरी बताया :

भीम आर्मी प्रमुख ने राजनैतिक दल के गठन को सत्ता की चाह नहीं बल्कि एक मजबूरी की तरह बताया, भीम आर्मी प्रमुख ने बताया कि उन्हें पिछड़े वंचित समाज के लोगों के लिए आवाज बनकर उठ खड़ा होना आवश्यक हो गया है ताकि आमजन की आवाज ऊंचाई तक पहुँच सके।

आखिर वही हुआ जिसका अंदेशा था :

देश मे तमाम आंदोलनों के बाद जिस तरह की प्रथा चलती आ रही है ठीक उसी तरह भीम आर्मी ने भी बदस्तूर जारी रखा और लोगों को आंदोलन के बहाने खड़ा करके राजनितिक पकड़ मजबूत करने के लिए दल की घोषणा कर दी है। देखते है आखिर इस राजनीतिक दल का अंजाम क्या होता है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com