Congress Leader and Former Minister vivek singh Passed Away
Congress Leader and Former Minister vivek singh Passed Away|Google Image
देश

बाँदा के कद्दावर नेता विवेक सिंह का निधन,दिल्ली मैक्स अस्पताल में ली आखिरी सांस

बाँदा की सुस्त राजनीति में तेज तेवर लाने का श्रेय जाता है विवेक सिंह को, स्थानीय लेवल पर इनका पार्टी से ऊपर स्थान रहा है

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

जिले के विवेक का हुआ निधन :

देश मे लगातार हो रही असामयिक मृत्यु की घटनाओं में बाँदा ने अपना अगला क्रम जोड़ दिया। जिले के कद्दावर कांग्रेसी नेता ने आज सुबह दिल्ली के मैक्स अस्पताल में अपनी आखिरी सांस ली। गौरतलब हो कि श्री विवेक सिंह लंबे समय से बीमार चल रहे थे परिवार के सदस्यों द्वारा दिल्ली में रहकर इलाज कराया जा रहा था। विवेक सिंह बाँदा जिले में ऐसे नेता के रूप में जाने जाते थे जिसकी छात्रों और निम्नवर्ग के लोगों के बीच तगड़ी पैठ थी। यही नहीं इस नेता का कद जिले में पार्टी से भी ऊंचा था शायद यही कारण था कि बाँदा में जो लोग विवेक सिंह का समर्थन करते थे वो कांग्रेसी न होकर विवेक सिंघी कहे जाते थे।

तीन बार विधायक और मंत्री :

लोगों के बीच विवेक सिंह की पहचान हर व्यक्ति से निजी तौर पर जुड़े रहने वाले नेता की थी यही कारण था कि विवेक सिंह तीन बार विधायक रहे और एक बार प्रदेश के ऊर्जा मंत्री का पदभार संभाला। साथ ही अपने क्षेत्र में हर व्यक्ति की समस्याओं को बेहद संजीदगी से सुनते थे यही कारण है कि निधन का समाचार मिलते ही पूरे जिले में शोक छा चुका है।

गुटबाजी का शिकार हुआ यह कद्दावर नेता :

भले ही विवेक सिंह की छवि और काम करने का तरीका बेहद अनूठा रहा हो लेकिन बीते कुछ समय से पार्टी के अंदर चलती गुटबाजी और जातीय समीकरणों के चलते विवेक सिंह राजनीति से लगभग बाहर ही कर दिए गए थे। और पार्टी में उनके वर्चस्व की स्थिति भी निम्नतर होती चली गयी हालांकि वो बात अलग है कि विवेक सिंह के काम और नाम की वजह से आज भी लोगों के बीच सिक्का चलता था। खासकर युवाओं और छात्रों के बीच अपनी पकड़ मजबूत बनाये रखने वाला बाँदा का नेता महाप्रयाण की ओर जा चुका है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com