उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Banda Roadways Bus Accident
Banda Roadways Bus Accident|Google 
देश

रोडवेज बस हादसे के बाद चेती पुलिस, ओवरलोड और अवैध वाहनो में ख़ौफ़

पुलिस अगर अपने पर आ जाये तो क्या से क्या हो सकता है, इसका ताजा उदाहरण बाँदा पुलिस है जिसके एक्शन से माफियाओं और तेज रफ्तार वाहनो में हड़कंप मचा हुआ है। 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

बाँदा अभी सैमरा नाला में हुए बस टक्कर से निकला ही था कि अगले ही दिन सड़क हादसों की खबरों से अखबार पटा हुआ था, नतीजन जिले के आला अधिकारियों ने एक कड़ा निर्णय लिया और उसका नतीजा यह है कि मात्र 3-4 दिनों में ही अकेले बाँदा शहर में ही करीब 200 से ज्यादा ट्रक या तो सीज कर दिए गए या फिर उनका चालान किया गया है जिसको लेकर इस प्रकार के अवैध काम करने वालो के मन मे ख़ौफ़ बस गया है।

डीएम ने हादसे पर दिखाई तत्परता :

बाँदा डीएम हीरालाल समाजिक कार्यो के लिए जाने जाते है, लेकिन आपातकाल या किसी दुर्घटना के समय उनका रिस्पांस किस तरह का होता है यह रोडवेज बस दुर्घटना के समय नजर आया।

दुर्घटना स्थल के निरीक्षण के बाद जिलाधिकारी हीरालाल सीधे अस्पताल पहुंचे और वहाँ फैली अव्यवस्थाओं को मात्र 10 मिनिट में ठीक करने का आदेश दिया और यह भी कहा कि आज मैं किसी प्रकार का बहाना सुनने के मूड में नही हूँ, वहीँ घायलों की स्थिति देखकर बाँदा राजकीय मेडिकल कालेज के चिकित्सकों को तत्काल प्रभाव से राजकीय जिलाअस्पताल में रिपोर्ट करने के लिए कहा और यह निर्देश दिए कि मरीज तभी बाहर के लिए भेजा जाए जब स्थिति अपने हाँथ से निकली जा रही हो या संबंधित उपकरण उपलब्ध न हो।

इसी क्रम में जिलाधिकारी हीरालाल ने जिला महिला चिकित्सालय का भी निरीक्षण किया जिसमें खामियां पाए जाने पर सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया।

हीरालाल ने ओवरलोड वाहनों के लिए भी आदेश जारी कर दिया है जिसको लेकर पुलिस विभाग में हड़कंप से मचा हुआ है।