बाँदा का दबंग कोटेदार, जो राशन मांगने पर हथौड़ा मारने को दौड़ता है

राशन मांगने पर हरिजन कोटेदार लोगों पर हरिजन एक्ट लगाने की धमकी देता है
बाँदा का दबंग कोटेदार, जो राशन मांगने पर हथौड़ा मारने को दौड़ता है
कोटेदार अवधेश कुमार वर्माउदय बुलेटिन

मामला उत्तर प्रदेश के बाँदा जिले से जुड़ा हुआ है जहाँ जिले के महुआ ब्लाक के अंतर्गत आने वाले गांव महुआ में दबंग कोटेदार अपनी हनक से उपभोक्ताओं का जीना मुहाल किये हुए है और राशन की मांग करने पर जान से मारने पर उतारू हो जाता है।

राशन की मांग की तो मारपीट पर उतर आया:

मामला जिला मुख्यालय के करीब 15 किलोमीटर दूर ब्लाक/ग्राम महुआ से जुड़ा हुआ है जहाँ पर ग्रामीणों ने सरकारी सस्ते दर की राशन की दुकान चलाने वाले कोटेदार अवधेश कुमार वर्मा की मनमानी का वीडियो वायरल हुआ है। दरअसल ग्रामीण राशन लेने के लिए कोटेदार की दुकान पहुँचे जहां पर कोटेदार खुद की चक्की और स्पेलर इत्यादि भी चलाता है, ग्रामीणों के द्वारा सरकार द्वारा पदत्त राशन की मांग करने पर कोटेदार ने साफ-साफ शब्दों में कहा कि उसके पास अब कोई राशन नहीं बचा है इस पर ग्रामीणों ने कहा कि जब उन्होंने राशन लिया ही नहीं तो उनके हिस्से का राशन कहां चला गया और ग्रामीणों ने इस मनमर्जी के खिलाफ पूर्ति विभाग के अधिकारियों के पास शिकायत करने की बात कही जिसपर कोटेदार अवधेश कुमार वर्मा का गुस्सा बरस पड़ा।

वीडियो बनाने पर मोबाइल तोड़ने की कोशिश और हथोड़े से मारने का प्रयास:

इस पूरे वाकये को ग्रामीण युवाओं ने अपने मोबाइल कैमरे में कैद करने की कोशिश की जिसमे ग्रामीण कोटेदार अवधेश कुमार वर्मा से राशन की मांग करते हुए नजर आ रहे है और कोटेदार अपनी मस्ती में साफ-साफ मना करता हुआ नजर आता है। लेकिन जब कोटेदार ने देखा कि उसका वीडियो ग्रामीण विख्यात शुक्ला के द्वारा शूट किया जा रहा है तो वह मोबाइल तोड़ने की कोशिश में युवा पर झपट पड़ा और पास में रखे हथौड़े को उठाकर जानलेवा हमला कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि अगर ठीक वक्त पर लोगों द्वारा इस हमले को रोका नहीं गया होता तो वीडियो बनाने वाले व्यक्ति की जान पर संकट आ सकता था।

पुराना है रवैया:

विख्यात शुक्ला (Vikhyat Shukla) ने बताया कि उक्त कोटेदार अनुसूचित जाति (हरिजन वर्ग) से संबंध रखता है और अगर कोई भी पात्र व्यक्ति राशन की मांग करता है तो कोटेदार हरिजन एक्ट में फसा देने की बात करता है। लोगों ने बताया कि लोग कानून के भय से कोटेदार के विरुद्ध कुछ भी कहने से डरते हैं। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि उक्त कोटेदार राशन की दुकान में ही चक्की और स्पेलर इत्यादि चलाता है जिससे पात्र लोगों के आये हुए राशन को अपनी चक्की में पीस कर बाजार में आटा बेच देता है और ग्रामीणों पर धौंस जामाता हुआ कहता है कि "जब मैं जिला पूर्ति अधिकारी समेत सभी आला अधिकारियों को चढ़ावा चढ़ाता हूँ तो मेरा कोई कुछ नही बिगाड़ सकता "

ग्रामीण इस मामले को लेकर जिलाधिकारी के पास जाने वाले है, ग्रामीणों ने कहा कि तत्काल प्रभाव से इस कोटेदार अवधेश कुमार वर्मा का कोटा निरस्त किया जाना चाहिए तथा इसके द्वारा बांटे गए राशन की जांच होनी चाहिए।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com