उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Banda: Kids Educational tour on Tractor Trolly
Banda: Kids Educational tour on Tractor Trolly|Uday Bulletin
देश

शैक्षणिक भृमण में बच्चों को कराई ट्राली की सवारी, कई बच्चो की जिंदगी खतरे में डाली ! 

उत्तर प्रदेश सरकार सरकारी विद्यालयों में तमाम तरह के प्रयोग कर रही है लेकिन जमीनी स्तर पर वह कितने कारगर है ये आपको खुद देखना पड़ेगा! 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

बाँदा का अलीगंज अतर्रा चुंगी का इलाका, जहां दोपहर के समय ट्रैफिक का तगड़ा जमावड़ा होता है, वहीँ से चारो तरफ से आने वाले ओवर लोड ट्रकों और बसों के बीच से गुजरता हुआ ट्रैक्टर जिसमें सरकारी स्कूल के बच्चे सवार थे और किसी अनचाही घटना को दावत दे रहे थे।

मामला उत्तर प्रदेश सरकार के सरकारी विद्यालयों में किये जाने वाले शैक्षणिक टूर या भृमण से जुड़ा है जहाँ स्कूल के विद्यार्थियों को अपने आस-पास की प्रशिद्ध जगह ले जाकर उस स्थान के महत्व से अवगत कराया जाता है, इस प्रकार के भृमण में विद्यार्थियों को नए स्थान और नए लोगों से मिलने-जुलने का मौका मिलता है। लेकिन इसके लिए विद्यालय समिति जिसमें ग्राम प्रधान, ग्राम सचिव, स्कूल के प्रधानाचार्य विद्यार्थियों के आवागमन की पूर्ण व्यवस्था रखते है लेकिन ग्राम कनवारा ब्लाक बड़ोखर थाना कोतवाली बाँदा जिला बाँदा के विद्यालय ने तो मानकों को चकनाचूर ही कर दिया।

विद्यालय के बच्चे ट्रैक्टर ट्राली में लोहे से टकराते हुए टूर से होकर लौटते नजर आए।

यातायात की नजर से बेहद खतरनाक है रास्ता :

एक ओर जहां नरैनी और अतर्रा दोनो रोड वर्तमान में छोटे वाहनों के लिए काल है वहीँ आये दिन गलत ट्रैफिक व्यवस्था से ट्रैक्टर ट्राली आये दिन उलटे मिलते हैं। ऐसी स्थिति में एक ट्राली और 25-30 बच्चो को लंबी दूरी ट्रैक्टर ट्राली पर तय कराई यह बेहद चिंताजनक है।

अगर कोई दुर्घटना होती तो कौन जिम्मेदार होता ?

ईश्वर न करे इस दौरान अगर कोई बच्चा रास्ते मे ट्राली से छिटक कर गिर जाता तो उसकी जिम्मेदारी कौन लेता? ग्राम प्रधान अथवा प्रधानाचार्य, या जिले के आला अधिकारी ?

सब पैसा समेटने का खेल है :

अगर इसी यात्रा की जांच कराई जाए तो इसमे लंबा गड़बड़झाला नजर आएगा, दरअसल ग्राम प्रधान और शिक्षकों की मिलीभगत से बड़े वाहन को टूर में सम्मिलित दिखाकर पैसा लूटने का खेल खेला जाता है ।