बाँदा जिलाधिकारी हीरालाल को मिला जल प्रहरी का सम्मान !

बांदा जिलाधिकारी हीरालाल जल संरक्षण के प्रयासों के लिए किया गया सम्मानित। 
बाँदा जिलाधिकारी हीरालाल को मिला जल प्रहरी का सम्मान !
DM Banda Heeralal Uday Bulletin
Summary

जिलाधिकारी हीरालाल को प्राकृतिक संरक्षण के कार्यो के लिए जाना जाता है, और उनके कार्यों को अब पहचान मिलनी भी शुरू हो चुकी है, दिल्ली में जलशक्ति मंत्रालय और सरकारी टेल नामक संस्थान ने उनके कार्यो को सराह कर उन्हें प्रशस्ति पत्र सौपा!

चाहे वह ग्राम स्तर पर कुंआ जल पूजन या फिर केन नदी जल आरती जैसे कार्यों का आयोजन करना हो या फिर ग्रामीण क्षेत्र में मृतपाय हो चुके तालाबों को पुनर्जीवित करने का अद्भुद प्रयास। जिलाधिकारी हीरालाल लंबे समय से स्थानीय स्तर पर लोगों को जागरूक करने का अथक प्रयास करते जा रहे है। जिसको अब राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिलनी शुरू हो चुकी है। बीते 18 दिसंबर को दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब रफी मार्ग दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी हीरालाल को सम्मानित करने का कार्य हुआ। जिसमे हीरालाल के कार्यो को जलशक्ति मंत्रालय ने भविष्य के लिए जल सुरक्षित करने के लिए एक सफल कदम माना है।

किसने दिया है सम्मान :

जिलाधिकारी हीरालाल को यह जल प्रहरी सम्मान सामाजिक लाभ वाली योजनाओं को आमजन तक पहुँचाने वाली वेबसाइट सरकारीटेल और जलशक्ति मंत्रालय के साझा कार्यक्रम में दिया गया है। इस प्रकार के पुरस्कार सार्वजनिक क्षेत्र में किये गए जनहित कार्यो के सफल क्रियान्वयन में दिया जाता है।

सैकड़ो मृत कूपो/ तालाब/पोखरों को मिला नया जीवन:

बाँदा जिले के राजस्व नक्शे में वैसे तो हज़ारों की तादाद में पोखर, तालाब और कुँओं कि मौजूदगी थी। लेकिन जमीन कब्जाने की होड़ ने पेयजल के बेहतर संसाधनों को लगभग गायब ही कर दिया। जिलाधिकारी हीरालाल ने पदभार संभालने के बाद से ही एक मुहिम चलाई जिसके तहत इन जलस्रोतों को पुनर्जीवित करने के तमाम उपाय किये गए और इन प्रयासों के नतीजे बेहद सकारात्मक आये।

हालांकि अभी भी नक्शे में दर्ज हज़ारों तालाब जिनका रकबा राजस्व नक्से में सैकड़ो बीघे में है वह अब केवल कुछ बीघे में सिमट गए हैं। इन पर अभी तक कोई कार्यवाही नही की गई है अगर जिलाधिकारी द्वारा इन गायब तालाब और कुँओं को नक्शे के आधार पर निकाला जाये तो जिले में असंख्य जलस्रोत वापस मिल सकते है।

DM Banda Heeralal 
बाँदा: शहर के एक मात्र पहाड़ बाम्बेश्वर पर किया जाएगा सुंदरीकरण

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com