उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
अपर्णा यादव
अपर्णा यादव|Tehalka
देश

अपर्णा यादव ‘राम के साथ’, अयोध्या में बने राम मंदिर 

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, अपर्णा यादव शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की मांग की

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

बाराबंकी: सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव 'राम के साथ' हैं और चाहती हैं कि अयोध्या में राम मंदिर बने।

अपर्णा ने कहा कि उच्चतम न्यायालय का निर्णय आया है कि सुनवाई जनवरी में होगी तो हमें इंतजार करना चाहिए। उन्होंने कहा, 'मैं चाहती हूं कि राम मन्दिर बने।'

यह पूछे जाने पर कि क्या मस्जिद नहीं बनना चाहिए, अपर्णा ने कहा, 'मैं तो मन्दिर के पक्ष में हूं क्योंकि रामायण में भी राम जन्मभूमि का उल्लेख आता है।' जब पूछा गया कि क्या आप भाजपा के साथ हैं तो अपर्णा बोलीं, 'मैं राम के साथ हूं।'

अपर्णा ने स्वीकार किया कि चाचा शिवपाल यादव के अलग होने से 2019 के लोकसभा चुनाव में असर पड़ेगा और अगर उन्हें चुनाव लड़ने का मौका मिला तो वह सपा मुखिया अखिलेश यादव या शिवपाल में से वह अपने चाचा शिवपाल और मुलायम सिंह यादव को चुनेंगी। अपर्णा बाराबंकी के देवा शरीफ में कल रात एक निजी कार्यक्रम में आयी थीं।

उन्होंने कहा कि पारिवारिक खींचतान के चलते 2017 का चुनाव प्रभावित हुआ था और 2019 के चुनाव में भी इसका असर जरूर पड़ेगा क्योंकि पार्टी को मजबूत करने में शिवपाल का योगदान कम नहीं है। अपर्णा ने कहा कि शिवपाल ने भी पार्टी को मजबूत करने के लिए काफी मेहनत की।

आपको बता दें, उधर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भी को अयोध्या में भव्य राम मंदिर के शीर्घ निर्माण के लिए अध्यादेश लाने या कानून बनाने की अपनी मांग को दोहराया। आरएसएस के संयुक्त महासचिव मनमोहन वैद्य ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण राष्ट्रीय गौरव का विषय है और अभी तक अयोध्या विवाद का हल अदालतों में नहीं निकला है। वैद्य की यह टिप्पणी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तीन दिवसीय अखिल भारतीय कार्यकारिणी मंडल के मद्देनजर आई है जिसका उद्घाटन आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने किया था। थाणे के भयंदर में आरएसएस और इसके अनुषांगिक संगठनों के प्रमुख इसमें हिस्सा ले रहे हैं।

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर में 18 अक्टूबर को अपनी वार्षिक दशहरा रैली में मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाने की मांग पहली बार उठाई थी। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भी राम मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाने की मांग पहली बार उठाई है।