उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Banda Police
Banda Police|Google
देश

रिटायर्ड दरोगा की मौत के बाद हुआ स्वांग, लगाया लूट कर मारने का आरोप

जिंदा हाथी लाख का और मरा हुआ सवा लाख का, ये कहावत आपने सिर्फ सुनी होगी, लेकिन इसको चरितार्थ होते हुए बाँदा के लोगो ने देखा !

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

मामला लूट और हत्या से जुड़ा हुआ है, निवाईच गांव निवासी कल्लू प्रसाद वर्मा रिटायर्ड पुलिस दरोगा (एस आई)  बाँदा की स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की मुख्य शाखा से अपने परिवारीजनों के साथ 50,000 रुपये निकालने आये, हालात बेहद नाजुक थी, रिटायर्ड दरोगा बीमारी की हालात में कांप रहे थे, बैंक कर्मियों ने उक्त व्यक्ति के सहयोगियों से कहा कि इनको किसी ठीक अस्पताल में भर्ती कराए, और पैसा जल्द से जल्द निकाल कर खातेदार को मुहैया कराया गया, पैसा निकालकर कल्लू अपनी पत्नी रामकली और छोटे बेटे रामप्रकाश के साथ बैंक से बाहर निकले और रिक्शे पर बैठकर जाने लगे, थोड़ी देर बाद यह बवाल मचा की किसी दरोगा को गांव के ही लोगो ने पीट-पीट कर मार डाला और रुपये लेकर फरार हो गए।

मामला जितना सीधा लगता है उतना है नही :

कहानी आज से पिछले समय मे खोजने पर मिलती है, दरअसल पक्ष और आरोपी व्यक्ति दोनो पैलानी थाना क्षेत्र के निवाईच  गांव के निवासी है , मृतक कल्लू प्रसाद वर्मा उत्तर प्रदेश पुलिस के पूर्व दरोगा है, कल्लू प्रसाद वर्मा के लड़के चंद्रप्रकाश पर कुछ समय पूर्व बलात्कार का केस दर्ज हुआ था, जिसका मुकदमा अदालत के संज्ञान में है, और हत्या के आरोपी रामसुबीर और ननकू कोटेदार के अनुसार साजिशन यह स्वांग रचा गया है, गौरतलब हो कि रामसुबीर के द्वारा ही यह बलात्कार का केस पंजीकृत कराया गया था, रामसुबीर के घर की एक महिला के साथ दरोगा कल्लू प्रसाद के बेटे ने दुष्कर्म किया था जिसकी कानूनन पुष्टि हो चुकी है।

बैंक का घटनाक्रम:

बैंक में कल्लू प्रसाद वर्मा अपने खाते से 50,000 रुपये निकालने के लिए आये थे, साथ मे पत्नी और छोटा बेटा भी था, हालत इतनी नाजुक थी कि लोगों ने कहा कि आप पैसे निकालने की बजाय इन्हें किसी अस्पताल में भर्ती कराए, इस पर दरोगा के बेटे ने बताया कि पैसे इलाज के लिए ही निकालने है, बैंक में पैसे मिलने पर पति के हाँथ से पैसे लेकर पत्नी ने अपने थैले में डाले, संयोग की बात यह है कि उसी समय बैंक में आरोपी रामसुबीर भी बैंक में किसी काम से आये थे, जिसकी वजह से उन्हें लगता है कि मौके का फायदा लेकर उन्हें फसाया जा रहा है।

हालांकि पुलिस ने बैंक की सीसीटीवी फुटेज लेकर कार्यवाही शुरू कर दी है, मामला पानी की तरह साफ हो जाएगा।