उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
सड़क पर की धान की रोपाई
सड़क पर की धान की रोपाई|Uday Bulletin
देश

तहसील के सामने पानी भरे गड्ढे में धान रोप कर जताया सरकार से विरोध

योगी सरकार का 100 दिन में प्रदेश की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का वादा झूठा और खोखला निकला।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

बाँदा जिले की बबेरू तहसील के सामने से जाने वाली सड़क का स्थान सरकारी गड्ढों ने ले लिया है जिसकी वजह से आवागमन करने वाले राहगीरों और फरियादियों को दो चार होना पड़ता है, हल्की सी बारिस होने पर हालात बेहद खराब हो जाते है और इन गड्ढों में 2 फिट की मात्रा तक पानी भर जाता है"

मामला बाँदा जिले की बबेरू तहसील का है जहां,  तहसील के मुख्य द्वार पर बड़े आकार के कई गड्ढे हो चुके है, जिनकी वजह से तहसील आने-जाने वाले तमाम दिव्यांग लोगों, बच्चों, बुजुर्गों को समस्या होती है, इस अव्यवस्था के विरोध में बुंदेलखंड इंसाफ सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष समेत अन्य पदाधिकारी जिनकी संख्या करीब आधा सैकड़ा थी ,उन्होंने तहसील परिसर में केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार के विरोध में नारेबाजी की और अपना विरोध दर्ज कराने के लिए पानी भरी गड्ढा युक्त सड़क पर धान रोपित किये।

  बुंदेलखंड इंसाफ सेना के अध्यक्ष  ए एस नोमानी ने पत्रकारों को बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार के तमाम वादे और दावे लगातार झूठे और खोखले निकल रहे है, नोमानी ने लोगो को याद दिलाया कि सरकार ने 100 दिन में प्रदेश की सभी सड़को को गड्ढा मुक्त करने का दावा किया था, फिर यह गड्ढा अभी तक यहाँ कैसे था?

नोमानी से सरकार और ठेकेदारों की मिलीभगत के बारे में जनता को अवगत कराया, और कहा कि ये सरकार पूरी तरह अमीरों के इशारे पर चल रही है।

नोमानी ने सरकार की मंशा पर सवाल भी खड़े किए , उन्होंने कहा कि जब तहसील के सामने से निकलने वाली सड़को के ये हालात है तो दूरदराज की ग्रामीण सड़को के हालात क्या होगे?

नोमानी के अनुसार हमारा यह शांतिपूर्ण प्रदर्शन सोई हुई सरकार को जगाने के लिए है।