उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Neki Ki Diwar Banda
Neki Ki Diwar Banda|Uday Bulletin
देश

बाँदा: नेकी की दीवार मुहिम से वंचितों के अंग ढंकने का प्रयास

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

” एक धर्म मे यह दान हो जाता है तो किसी धर्म मे यह जकात, और किसी तीसरे धर्म मे यह दशमांश के नाम से जाना जाता है, कुल मिलाकर अगर आपके पास जरूरत से ज्यादा है तो उसे जरूरतमंदों को दे, इसी मुहिम के साथ बाँदा में गरीबो के लिए एक नई शुरुआत हुई”

हालांकि यह कॉन्सेप्ट नया रूप बदल कर आया तो विदेशों से है लेकिन अगर दान करने की प्रवत्ति को देखे तो यह भारतीयों में पुरातन काल से कूट-कूट कर भरी मिलती है पौराणिक काल में राजा अपनी शरण में आये निरीह पक्षी के लिए अपना हाँथ काट कर दान में दे देते थे, या फिर जनहित में अपनी हड्डियों का दान करना, या फिर कुम्भ के मेले में राजा हर्षवर्धन का अपने वस्त्र तक दान में देना ये सब यह दर्शाता है कि भारत मे समाज के अन्य वर्गों के लिए समरसता की भावना सदैव जिंदा रही है

Neki Ki Diwar Banda
Neki Ki Diwar Banda
Uday Bulletin

ऐसा ही नजारा उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में नजर आया सदर तहसील में तहसीलदार और अन्य तहसील कर्मचारियों ने समाज के लिए एक अनूठी पहल की है जिसमे सदर तहसील के अंदर ही एक नेकी की दीवार का निर्माण कराया है, जिसमे लोगो से यह अपील की है कि अगर आपके पास आपके अनुपयोगी कपड़े है तो जरूरतमंद लोगों के लिए इस दीवारा मे टांग सकते है, और यहां से जिस जरूरतमंद को आवश्यकता होगी यहां से अपने माप के कपड़े ले जा सकता है,

मुहिम के शुरू होते ही लोगो ने अपने बिना उपयोग के कपड़े इस दीवार पर टांगने शुरू कर दिए है, 1 सितंबर से शुरू हुई इस मुहिम में लोगो का साथ बढ़ता ही जा रहा है और अब तक करीब आधा सैकड़ा से ज्यादा जरूरतमंद लोग अपने माप के कपड़े लेकर जा चुके है, और इसी तरह जैसे जैसे लोगो को इस बात की जानकारी मिल रही है वो पुराने कपड़ो को धुल और इस्त्री करके स्थल पर टांगने आ रहे है,

इस प्रयास को लेकर तहसीलदार सदर और अन्य कर्मचारियों की जिले में चारो तरफ वाहवाही हो रही है