उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
सांकेतिक चित्र 
सांकेतिक चित्र |Social Media
देश

दक्षिणांचल विद्युत वितरण के कर्मी उपभोक्ताओं के साथ कर रहे दुर्व्यवहार, महिला ने लगाया इज्जत पर हाँथ डालने का आरोप

बिजली बिल जमा नहीं किया तो महिला के साथ दुर्व्यवहार करने लगे बिजलीकर्मी 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

मामला बाँदा जिले के गांव दुरेड़ी का है, जहां बिजली के बकायेदारों के घर बिजलीकर्मियों ने धावा बोल दिया, लक्ष्य था बकाया बिल वसूल करना और बिल न चुकाने की स्थिति में कनेक्शन काटना। लेकिन गांव दुरेड़ी में यह स्थिति तब बिगड़ गयी, जब एक उपभोक्ता ने यह बताया कि हमारे यहाँ कितना बिल बकाया है ये हमें आज तक बताया ही नहीं गया, करीब एक साल पहले से हमारे यहाँ ना तो आपका कोई बिल उपलब्ध हुआ है और ना ही कनेक्शन विच्छेद करने के संबंध में कोई नोटिस।

इस तरह की बात करते हुए पीड़ित महिला संध्या (बदला हुआ नाम) के अनुसार बिजली कर्मी ने जाति सूचक शब्द इस्तेमाल करते हुए पीड़ित को तमाचे मारना शुरू कर दिया।

पीड़ित के अनुसार बिजली कर्मी उसका मान भंग करना चाहते थे, पीड़िता के अनुसार "उन्होंने जबरन मेरा हाँथ पकड़ने की कोशिश की,लेकिन किसी तरह पीड़िता ने पड़ौसियों के घर मे घुसकर अपनी इज्जत और जान बचाई। इस संबंध में किशन, योगेश, एक और नामजद के अलावा एक अज्ञात के खिलाफ पुलिस चौकी में तहरीर दी है, ये सभी आरोपी बाँदा बिजली विभाग के कर्मचारी है।

इस मामले में जब पुलिस चौकी में कोई ठोस कार्यवाही न हुई तो मजबूर होकर पीड़िता को अपने पति के साथ एसपी ऑफिस का दरवाजा खटखटाना पड़ रहा है।

बिजली विभाग के अपने आरोप

विद्युत विभाग के अनुसार आरोपी व्यक्ति दूसरे के घर से अवैध कनेक्शन लेकर उपयोग कर रहा था। जिसके कारण जब कर्मियों ने कनेक्शन काटा तो महिला अभद्रता करने लगी।

दोनों पक्षों ने अपने अपने आरोप लगाए है, दोनों के बीच में सच क्या है ये तो भगवान ही जाने, लेकिन बिल कम करवाने और कटिया लगाकर बिजली जलवाने में विद्युत विभाग वैसे ही बदनाम है। जिसका खामियाजा सीधे तौर से आम उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है, बिना रोस्टर के अघोषित कटौती करने के कारण सभी उपभोक्ताओं के मन मे विभाग के प्रति रोष और आक्रोश है, लोगों के अनुसार " जब तक आप अपनी सेवाओं में सुधार नहीं लाते, आपका विद्युत बिल मांगने का ओचित्य ही बनता।"