उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Kiran Isher
Kiran Isher|Social Media
देश

जम्मू-कश्मीर: इस बार भारत-पाकिस्तान सीमा पर भी लगेगा गणपति बप्पा का जयकारा

मुंबई से गणपति बाप्पा की मूर्ति पुंछ के लिए रवाना !

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

महाराष्ट्र सहित पूरे देश भर में गणेश चतुर्थी को लेकर तैयारियां जोरशोर से शुरू हो चुकी है, बाजार में गणपति बाप्पा की मूर्ति भी सज गई है और लोग बाप्पा को अपने घर में लेकर जाने के लिए खरीदारी पर निकल चुके हैं। लेकिन इसबार यह नजारा इसलिए खास क्योंकि जम्मू-कश्मीर भी इस साल गणेश चतुर्थी का पर्व धूमधाम से मनाने जा रहा है।

किरण ईशर जो कि जम्मू-कश्मीर के पुंछ की निवासी हैं और कश्मीरी पंडित है उन्होंने तय किया है कि इसबार वो सीमा पर गणेश चतुर्थी का त्यौहार मनाएगीं, और इसके लिए वो पुंछ से मुंबई गणपति बाप्पा की मूर्ति खरीदने आई हैं। हालांकि वो पिछले 10 सालों से यह त्यौहार मना रही हैं लेकिन बेहद निजी तरीके से और इसबार उनकी इच्छा है कि वो सीमा पर गणपति बाप्पा की मूर्ति स्थापित करें।

किरण कहती हैं कि 'मैं कई सालों से यह त्यौहार मना रही थी, मैं हर साल मुंबई जाती हूं और 'मुंबई के राजा' गणपति की प्रतिमा पुंछ लेकर आती हूं। हम सब हमारे घर पर बाप्पा की प्रतिमा स्थापित करते हैं, लेकिन इसबार हम गणपति की स्थापना बड़े पंडाल में करेंगे, गणपति हमारे 'बॉर्डर के राजा है', मैं गणपति की प्रतिमा को ट्रेन से जम्मू-कश्मीर लेकर जाउंगी।

किरण ने बताया कि इसबार उन्होंने भगवान गणेश की तीन मूर्तियां खरीदी हैं। जिनकी ऊंचाई 6.5 फीट है। किरण कहती हैं कि जब हम गणपति का यह त्यौहार मानते हैं तो हमारे जवानों का मनोबल बढ़ता है और नागरिकों में सौहार्द की भावना जागृत होती है। मैं बड़ी श्रद्धा के साथ यह त्यौहार मानती हूं।

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जारी तनाव के बीच इस बार पाकिस्तान की सीमा पर भी गणपति बाप्पा मोरया का जयकारा लगेगा और इसके लिए बाप्पा की मूर्ति बड़े धूम-धाम से जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना हो चुकी है, बताया जा रहा है कि इस पूजा में स्थानीय लोगों के साथ-साथ सेना के जवान भी शामिल होंगे और 11 दिनों तक पूजा-अर्चना करेंगे। यह पहला मौका है जब जम्मू-कश्मीर में गणेश चतुर्थी का त्यौहार बड़े धूम-धाम से मनाया जायेगा।