उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Poster boy MLA Kuldeep Singh Sengar
Poster boy MLA Kuldeep Singh Sengar|Social Media
देश

उन्नाव के बलात्कारी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर बने पोस्टर बॉय, स्वतंत्रता दिवस पर पीएम के साथ लगी तस्वीर  

उन्नाव में पोस्टर बॉय बने बलात्कारी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर !

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

उन्नाव रेप केस के आरोपी और भारतीय जनता पार्टी से निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर इन दिनों सीबीआई के शिकंजे में हैं और क़ानूनी दावपेंच में पूरी तरह फंस चुके हैं। भारतीय जनता पार्टी से उन्हें बर्खास्त तो कर दिया गया है लेकिन प्रदेश में अब भी उनकी तूती बोलती हैं और अब वो उन्नाव में पोस्टर बॉय बन बैठे हैं।

दरअसल स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लगाए गए पार्टी के पोस्टर में वो उन्नाव की जनता को स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस पोस्टर में उनके साथ पीएम नरेंद्र मोदी भी दिख रहे हैं और अब सेंगर के इस पोस्टर को लेकर एक नया बवाल शुरू हो गया है।

Poster boy MLA Kuldeep Singh Sengar
Poster boy MLA Kuldeep Singh Sengar
Social Media

क्या है मामला ?

उन्नाव नगर पंचायत के अध्यक्ष अनुज कुमार दीक्षित ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बधाई संदेश देने के लिए कुछ पोस्टर और विज्ञापन छपवाए थे और उस विज्ञापन में उन्नाव बलात्कार केस के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी , ग्रह मंत्री अमित शाह और पार्टी के अन्य नेताओं की तस्वीर छपी है। अनुज कुमार ने यह विज्ञापन अखबार सहित अन्य जगहों पर प्रकाशित किया, जो अब काफी तेजी से वायरल हो रहा है और लोग इसपर सवाल उठा रहे है।

जब अनुज कुमार दीक्षित से पूछा गया कि कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से निकाल दिया गया है और वो जेल में हैं फिर उन्हें पोस्टर में क्यों शामिल किया गया ?

इसपर उन्होंने कहा कि "वह अब भी हमारे क्षेत्र के विधायक हैं इसीलिए उनकी फोटो है। जब तक वह हमारे विधायक हैं, तब तक हम उनकी फोटो लगा सकते हैं। ”

आपको बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जब सीबीआई ने उन्नाव रेप केस की पड़ताल शुरू कि तो उन्होंने पीड़िता द्वारा विधायक पर लगाए गए सभी आरोपों को सही पाया। जिसके बाद सीबीआई ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्शुअल ऑफेंसिस ऐक्ट (POCSO Act) की धारा के तहत कार्यवाई शुरू की। जिसमें सरकार द्वारा सैलरी प्राप्त कर रहा कोई ही कर्मचारी अगर नाबालिक के साथ यौन शोषण दोषी पाया गया तो उसे 10 साल की सजा देने का प्रवधान है।

सीबीआई ने अब इस मामले की जांच पूरी कर ली है और आरोपों की कॉपी सुप्रीम कोर्ट को सौंप दी है। ज्ञात हो कि पिछले महीने हुए सड़क हादसे में उन्नाव रेप केस की पीड़िता और उसका वकील गंभीर रूप से घायल हो गया था ,अब उन दोनों का इलाज दिल्ली के एम्स में चल रहा है। उन्नाव की बेटी के समर्थन में आज पूरा देश खड़ा है।