उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Banda Jail
Banda Jail|Social Media
देश

जेल के जैमर ने बढ़ाई समस्या, आस पास के लोगों का फोन पर बात करना मुश्किल

“सुरक्षा के नाम पर लोगों को दी जा रही है समस्या “

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

उत्तर प्रदेश के जेलों की हालात किसी से छुपे नहीं है, औचक निरीक्षण में तमाम प्रकार के मोबाइल कैदियों के पास पकड़ें जाना आम सी बात हो गयी है, लेकिन इन दिनों बाँदा जेल प्रशासन कुछ जरूरत से ज्यादा एक्टिव नजर आ रहा है। बाँदा में जेल प्रशासन ने फोन के उपयोग को पूरी तरह से बंद करने के लिए तेज क्षमता का सिग्नल जैमर लगाया हुआ है, जिसकी वजह से न तो जेल में किसी मोबाइल से बात हो पा रही है, वही इस कड़ाई से आस-पास के निवासी समेत बड़े संस्थान जैसे कि स्टेट बैंक के कर्मचारी समेत ग्राहक परेशान है।

लगभग डेढ़ सौ मीटर की परिधि में कोई सिग्नल नहीं

बाँदा जिला कारागार शहर के क्योटरा मुहल्ले से सटा हुआ है। भौगोलिक दृष्टि से यह घनी आबादी के क्षेत्र में आता है, और इसी आबादी के बीच जिलाधिकारी कार्यालय, पुलिस अधीक्षक कार्यालय और बड़े बैंक भी है। जिससे जैमर जेल के क्षेत्र के अलावा इन सब जगह भी सिग्नल बिल्कुल कम कर देता है, इस एरिया में मोबाइल पर बात करना तो मुश्किल ही है साथ में मैसेज का आना भी मुनासिब नहीं है। इस हालात के बारे में स्थानीय लोगों द्वारा जब जेल अधीक्षक से जानकारी मांगी गई तब सुरक्षा कारणों का हवाला देकर लोगों को वापस भेजा जा रहा है।

किसी समस्या होने पर मदद भी नहीं मांग सकते

स्थानीय निवासी आलोक त्रिपाठी ने बताया कि हमारे घर आते ही मोबाइल के सिग्नल या तो गायब ही जाते है या फिर सिग्नल रहने पर कही भी फोन नहीं किया जा सकता। एक घटना का उदाहरण देते हुए त्रिपाठी जी ने बताया कि , मेरे मित्र की दुर्घटना होने के बाद जब हमने एम्बुलेंस से मदद मांगनी चाही तो हम इसमें पूरी तरह असफल रहे, और फिर करीब आधा किलोमीटर दूर जाकर एम्बुलेंस को फोन किया गया। अब हमारे पास एक ही विकल्प है कि अपना घर बार बेच कर कहीं दूर बस जाए जो कि संभव है ही नहीं।