उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
संभल कांड
संभल कांड|Social Media
देश

बहुचर्चित संभल कांड का एक और दुर्दांत अपराधी एनकाउंटर में मारा गया

मौत से मुड़भेड़ !

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

17 जुलाई 2019 का दिन उत्तर प्रदेश पुलिस के लिए बेहद काला दिन साबित हुआ था। मुरादाबाद कोर्ट में पेशी पर जाते हुए अपराधियों ने पुलिस वैन में सवार पुलिसकर्मियों की आंखों में मिर्च झोंककर वहां से भाग निकलने में सफलता प्राप्त की थी, और इस घटना में दो पुलिसकर्मियों को इन अपराधियों द्वारा गोली से मार दिया गया था।

हालांकि इस घटना के बाद ही अमरोहा पुलिस ने तात्कालिक रूप से संज्ञान लेकर भागे हुए अपराधियों में से एक कमल को मार गिराया था, हालांकि धर्मपाल और शकील अभी तक फरार चल रहे थे।

शकील जो इस मामले का मास्टरमाइंड माना जा रहा था, पुलिस ने उस पर 2.5 लाख का इनाम घोषित किया था। अब संभल पुलिस ने पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद के निर्देशन में शकील को मार गिराया है। इस कार्यवाही में क्राइम ब्रांच का सिपाही विकाश चौधरी भी घायल हुआ है।

शातिराना हरकतों ने बनाया इतना बड़ा इनामी बदमाश

शकील संभल की घटना का मुख्य मास्टरमाइंड था, पुलिस वैन में पेशी पर जाते हुए शकील ने ही सारा खेल रचा था, पुलिस कस्टडी में मिर्च पावडर पाना और इतना बड़ा खेल करना बेहद शातिराना था ,और ड्यूटी पर तैनाथ पुलिसकर्मियों की हत्या से ये अपराधी सरकार और पुलिस विभाग के लिए चैलेंज सा हो गया था। अंततः पुलिस ने शकील पर ढाई लाख का इनाम घोषित कर दिया था, जिसके परिणामस्वरूप घटना के एक माह के पहले ही अपराधी को मार गिराया गया। हालांकि एक आरोपी धर्मपाल अब भी फरार है और उत्तर प्रदेश पुलिस की गोली मार लिस्ट में सबसे आगे है।

तीन गोलियों के मारे जाने के है निशान

अपराधी शकील पर संभवतः पुलिस ने तीन गोलियां छोटे हथियार की मारी है। जिसमें से दो गोलियां सीने के दोनों तरफ (ह्रदय और फेफड़े ) को शांत करती चली गयी होंगी। जबकि एक गोली का निशान कालर बोन के बिल्कुल नीचे है, हो सकता है यह गोली भी किसी ऊतक विशेष में लगी हो, हालांकि सारी जानकारी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मिल पायेगी।