उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
PM Modi
PM Modi|Social Media
देश

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद पीएम मोदी का आज देश को संबोधन, इन मुद्दों पर कर सकते हैं चर्चा

आज शाम चार बजे पीएम मोदी देश को संबोधित करेंगे। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

आज से ठीक 77 साल पहले 8 अगस्त 1942 को राष्ट्रीय पिता महात्मा गांधी ने भारत की आजादी के लिए ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ 'भारत छोड़ो आंदोलन' का आह्वान किया था। जिसे अगस्त क्रांति के नाम से जाना जाता है। इस आंदोलन के पांच साल बाद 15 अगस्त 1947 में भारत आजाद तो हो गया लेकिन भारत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा जम्मू और कश्मीर भारत में होते हुए भी भारत से अलग रहा। इस राज्य को आर्टिकल 370 के तहत विशेष राज्य का दर्जा दिया गया। यह अनुच्छेद 370 और 35A यह स्पष्ट करता है कि जम्मू-कश्मीर के नागरिक भारत के अन्य राज्यों के नागरिकों से अलग कानून में रहते हैं।

PM Modi
PM Modi
Social Media

लेकिन बीते मंगलवार को मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर को संविधान द्वारा दिए गए इस विशेषाधिकार से मुक्त कर दिया है। साथ ही इस राज्य को दो अलग जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के रूप में बांट दिया है। जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन के बाद आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित करने जा रहे हैं और कहा जा रहा है कि वे बारे में सरकार का पक्ष जनता के सामने रखेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी का यह संबोधन आकाशवाणी के जरिये किया जाएगा। आकाशवाणी और PIB ने इस बारे में जानकारी देते हुए एक ट्वीट पोस्ट किया और बताया कि प्रधानमंत्री मोदी आज शाम चार बजे देश को संबोधित करेंगे। लेकीन कुछ ही देर बाद इस ट्वीट को डिलीट कर दिया, बताया जा रहा है कि पीएम मोदी के संबोधन का समय बदला दिया गया है, हालांकि इस बात की अभी पुष्टि नहीं हो पाई है। इससे पहले भी 7 अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी देश को संबोधित करने वाले थे, लेकिन पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन के बाद इसे टाल दिया गया।

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद वहां 35 हज़ारों से ज्यादा सुरक्षा जवानों की तैनाती कर दी गई है। NSA अजीत डोभाल खुद जम्मू-कश्मीर के लोगों से बातचीत कर रहे हैं और केंद्र सरकार का पक्ष रख रहे हैं। राज्य के अलगाववादी और नेताओं को नज़र बंद कर दिया गया है। किसी भी अप्रिय अघटना से निपटने के लिए पुख्ता इंतज़ाम किये गए हैं। लेकिन विपक्षी दल लगातार सरकार के इस फैसले का विरोध कर रही है।