उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
J&K Governor, Satya Pal Malik
J&K Governor, Satya Pal Malik|Social Media
देश

J&K के गवर्नर मलिक ने कहा ‘मैं जो हूं अपने काम के बदौलत हूं मेरे पास दूसरों की तरह बाप-दादा का नाम नहीं है 

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के सत्य वचन 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

बीते दिन जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक विवादित बयान दिया था जिसे लेकर वो चौतरफा आलोचना का शिकार हो गए। और अब अपने उस बयान को लेकर मलिक मांफी मांग रहे हैं। राज्यपाल कह रहे हैं कि मैंने जो भी कहा था वो गुस्से में कहा था। इसे गंभीरता से ना लिया जाए। लेकिन अब मुसीबत ये है कि अगर संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों की बातों को गंभीरता से नहीं लिया जाएगा तो क्या आतंकियों की बातों को गंभीरता से लिया जाए ?

चलिए जानते हैं माजरा क्या है। दरअसल जम्मू कश्मीर के सत्यपाल मलिक अपने नाम के अनुरूप सत्य के पालक हैं। उन्हें समाचार एजेंसी ANI से बातचीत करते हुए कहा था कि राज्य के कई बड़े नेता और नौकरशाह भारी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। आतंकी उन्हें क्यों नहीं मारते ?

ये लड़के जो हथियार उठाते हैं वो अपने ही लोगों की हत्या कर रहे हैं, PSO, SPO इनकी हत्या कर के क्या मिलेगा। उनकी हत्या करो जिसने कश्मीर को लूटा है। इन्होंने तुम्हें मारा है क्या। जिसने तुम्हें मारा है उनकी हत्या करों। राज्यपाल ने यह बयान लद्दाख पर्यटन महोत्सव के दौरान दिया था।

राज्यपाल के इस बायन पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि “ मलिक संवैधानिक पद पर बैठे हुए हैं। और आतंकियों से कह रहे हैं कि नेताओं को मारों क्यों कि वे करप्ट हैं। नेताओं और बड़े अधिकारयों की हत्या की सलाह देने वाले की दिल्ली में अपनी पहचान है। मुझे लगता हैं इन्हें फिर से इस पहचान की पुष्टि कर लेनी चाहिए।”

अब इस मामले में सफाई देते हुए सत्यपाल मलिक कह रहे हैं कि मैंने जो भी कहा वह भ्रष्टाचार के कारण उत्पन्न हुए गुस्से और हताशा में कहा था। राज्यपाल के रूप में, मुझे ऐसी टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी, लेकिन यह मेरी व्यक्तिगत भावना है जो मैंने कही। कई राजनेता और बड़े नौकरशाह यहां भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं।

वहीं उमर अब्दुल्ला के बयान पर मलिक ने कहा कि वह एक राजनीतिक किशोर है जो हर बात पर ट्वीट करता है, उसके ट्वीट्स पर प्रतिक्रिया देखें और आपको पता चलेगा। मलिक ने आगे कहा कि ना मेरे पास दादा-बाप का नाम है, न रुपया है उमर की तरह। डेढ़ कमरे के मकान से यहाँ आये है। मैं गारंटी से कह सकता हूँ कि इनका जो भ्रष्टाचार हैं उसको सबको दिखा कर जाऊंगा।

मलिक ने उमर अब्दुल्ला को निशाना बनाते हुए कहा कि कश्मीर में देखो मेरी क्या रेपुटेशन है, पब्लिक से पूछो, मेरी भी पूछो और अपनी भी। मैंने दिल्ली में काम किया , मेरी रेपुटेशन की वजह से यहाँ आया हूँ। आप अपनी रेपुटेशन के वजह से वहां हो जहां हो।