उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Navjot Singh Sidhu
Navjot Singh Sidhu|Social Media
देश

फेल हुआ सिद्धू का इमोशनल पॉलिटिक्स ड्रामा, अमरिंदर सिंह ने स्वीकार किया इस्तीफा

अब अगला एक्शन क्या लेंगे गुरु ?

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

पंजाब कांग्रेस के फायर ब्रांड राजनेता नवजोत सिंह सिद्धू की आज पंजाब कैबिनेट से विदाई हो गई। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने आज अपने कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा स्वीकार कर लिया। मुख्यमंत्री ने इस्तीफे को अंतिम स्वीकृति देने के लिए राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर के पास भेज दिया। राज्यपाल ने भी बिना देरी किये इस्तीफे पर मंजूरी दे दी। जिसके बाद कांग्रेस के कुछ नेता इस पद को पाने के लिए लॉबिंग पर जुट गए।

क्या है मामला ?

बताया जा रहा है पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और पंजाब कैबिनेट मिनिस्टर नवजोत सिंह सिद्धू के बीच विवाद लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद शुरू हुआ था। मुख्यमंत्री ने सिद्धू पर आरोप लगाया था कि उन्होंने चुनाव के दौरान जहां भी प्रचार किया उन जगहों पर कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा। सिद्धू ने अपनी रैलियों के दौरान विवादित बयान दिए। जिसका खामियाजा पार्टी को हार से चुकाना पड़ा। इस हार के बाद मुख्यमंत्री ने उनका विभाग बदल दिया। सिद्धू फिर से स्थानीय निकाय विभाग मांग रहे थे जबकि उन्हें बिजली और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय विभाग दिया गया।

सिद्धू और कैप्‍टन के बीच शुरू हुए इस विवाद में प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी दखल दिया था। लेकिन उनकी लड़ाई ख़त्म नहीं हुई। जिसके बाद 10 जुलाई 2019 को सिद्धू ने अपना इस्तीफा राहुल गांधी को भेज दिया। साथ ही इस्तीफे की एक कॉपी कैप्टन को भी भेजी।

सिद्धू के इस्तीफे पर पंजाब सरकार इसलिए भी टालमटोल कर रही थी क्योंकि कांग्रेस सिद्धू जैसे फायर ब्रांड नेता को खोना नहीं चाहती। पार्टी उन्हें किसी न किसी तरीके से जोड़े रखना चाहती है। लेकिन आज मुख्यमंत्री ने नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा स्वीकार करते हुए सभी को चौंका दिया।सिद्धू अब पंजाब कैबिनेट से बाहर हो चुके हैं।

सिद्धू और कांग्रेस का अगला कदम

नवजोत सिंह सिद्धू भारतीय जनता पार्टी से कांग्रेस में आये थे। और वर्तमान समय में कांग्रेस के तेज तर्रार नेता हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान स्टार प्रचारकों की लिस्ट में भी शामिल थे। पार्टी उन्हें खोना नहीं चाहती। वैसे भी कांग्रेस की स्थिति इस समय अच्छी नहीं है ऐसे में अगर सिद्धू भी कांग्रेस पार्टी छोड़ कर चले जाते हैं तो कांग्रेस को परेशानी उठानी पड़ सकती है। सिद्धू कांग्रेस छोड़ कर क्या आम आदमी पार्टी में शामिल होंगे ?