उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
नीतीश कुमार 
नीतीश कुमार |Social Media
देश

नीतीश सरकार की स्वयं सेवक संघ समेत 19 अन्य संगठनों पर पैनी नजर, कराएगी जांच, मचा बवाल

बिहार पुलिस की स्पेशल ब्रांच टीम RSS का क्या बिगाड़ सकती है। 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

बिहार में भाजपा और जनता दल यूनाइटेड के गठबंधन की सरकार चल रही है। आम चुनाव से पहले तक सबकुछ ठीक ठाक था, लेकिन जैसे ही चुनावों का आगाज हुआ , इसके बाद सीट बंटवारे को लेकर थोड़े बहुत मतभेद के मामले आये थे। लेकिन चुनाव परिणाम के बाद मंत्रालय वितरण में यह नाराजगी खासा खुलकर सामने आई थी। हालांकि इसे सांकेतिक रूप से हर जगह प्रस्तुत किया गया था। अब नीतीश सरकार ने एक नया शिगूफा छोड़कर भाजपा समेत खुद अपने लिए एक समस्या खड़ी कर ली है।

Letter 
Letter 
Social Media

नीतीश सरकार के विशेष शाखा पटना ने बिहार के सभी जिले के पुलिस उपाधीक्षक (विशेष शाखा) को निर्देश जारी किया है कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ एवं अन्य सहयोगी संगठनों के पदाधिकारियों के बारे में जानकारी और संपर्क सूत्र इत्यादि की विशेष जानकारी एक हफ्ते के समय मे प्रेषित करने को कहा है।

हालांकि मामला काफी दिन पहले का है लेकिन अभी हाल में ही लोगों के संज्ञान में आया है। जिस वजह से बिहार समेत देश के काफी बड़े हिस्से में उथल पुथल मची हुई है। भाजपा और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के संबंध किस तरह के है यह किसी से छुपा नहीं है। और संघ के बारे में इस तरह की जानकारी विशेष रूप से पाना भाजपा के लिए एक तीर के समान लगा है। जिसका जवाब निकट भविष्य में नीतीश सरकार को मिलना संभव है।

हालांकि जनता दल के ही लल्लन पासवान ने इस तरह के किसी पत्र के बारे में अनभिज्ञता जाहिर की है। वही कांग्रेस इस मौके पर अपनी रोटियां सेकती हुई नजर आयी, कांग्रेस नेता प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि "आर एस एस की कोई गतिविधि संदिग्ध रही होगी तभी यह जांच कराई जा रही होगी"