उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
तबरेज़ अंसारी
तबरेज़ अंसारी|Social Media
देश

झारखंड पुलिस: तबरेज़ अंसारी लिंचिंग मामले के बाद सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट करने वालों को होगी जेल  

झारखंड पुलिस व्हाट्सअप और फेसबुक ग्रुप एडमिन पर करेगी कार्यवाई 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

झारखंड में तबरेज अंसारी की मॉब लिंचिंग हुई थी, इसके खिलाफ कई जगहों पर प्रदर्शन भी हुए थे। मामला काफी बढ़ गया था। यहां तक इस मामले को प्रधानमंत्री मोदी ने संसद में भी उठाया था। अब झारखंड से एक और खबर आ रही है। बताया जा रहा है कि तबरेज लिंचिंग मामले के खिलाफ एक बार फिर से प्रदर्शन शुरू हो गया है। झारखंड की राजधानी रांची में इस मामले के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन किया जा रहा है। तोड़-फोड़ मचाया जा रहा है। जिसमें अब तक 5 लोग घायल हो चुके हैं। जिसके बाद रांची पुलिस ने इस मामले में कार्यवाई करते हुए तीन रिपोर्ट दर्ज किये और एक जनहित सूचना जारी की है।

Jharkhand Police 
Jharkhand Police 
Social Media

झारखंड पुलिस की अपील

इस जनहित याचिका में झारखंड पुलिस ने कहा है कि -

सभी सोशल मीडिया एडमिन, ग्रुप एडमिन और सोशल मेडिया यूजर को अपील की जाती है कि किसी फोटो/वीडियो/पोस्ट के द्वारा किसी व्यक्ति, धर्म या समुदाय की भावना को आहात या किसी भी प्रकार से भ्रामक करने या सौहार्द्र बिगाड़ने वाले पोस्ट को वायरल ना करें। ऐसे पोस्ट करने वाले व्यक्ति, ग्रुप पर क़ानूनी कार्यवाही की जाएगी। बता दें कि झारखंड के अलग-अलग जगहों से कुछ असमाजिक तत्वों द्वारा टिप्पणी किये जाने के कारण उनके खिलाफ विधि-सम्मत क़ानूनी कार्यवाई शुरू की जा चुकी है।

हमें आप सभी से आशा और विश्वास है कि सभी नागरिक मिलकर अपने कार्य को पूरा करेंगे। अफवाह फैलाना और समाज में अशांति फैलाना कानूनी अपराध है। जिसके लिए दोषी व्यक्ति को जेल भेजा जा सकता है।

झारखंड पुलिस ने इस मामले में 200 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया है ,पुलिस का कहना है कि अब स्थिति काबू में है। आपको बता दें कि इस समय झारखण्ड के कई जिलों में धारा 144 लागू है। वहीं झारखण्ड के रामगढ़ में मुस्लिम संगठनों द्वारा कानून उल्लंघन करने की कोशिश की गई है।