उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
किसान क्रेडिट कार्ड
किसान क्रेडिट कार्ड|Social Media
देश

बाँदा जिलाधिकारी का बैंकों को कड़ा निर्देश, किसान क्रेडिट कार्ड में न हो देरी

सरकार ने बैंकों को दिए निर्देश, किसानों को 15 दिन में मिलेगा क्रेडिट कार्ड

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

विजय माल्या जैसे बैंक करप्ट व्यक्ति के पैसे को लेकर भले ही बैंकों ने चुप्पी साध ली हो लेकिन किसानों पर उनकी सख्ती जारी है।

बाँदा के तेजतर्रार जिलाधिकारी हीरालाल ने बैंकिग मीटिंग में बैंक मैनेजरों को सख्त निर्देश जारी किया है। दरअसल पिछले कई दिनों से यह बातें संज्ञान में आ रही थी बैंकों में दलालों का अड्डा बनाया हुआ है। जिसकी वजह से बैंक मैनेजरों द्वारा किसानों को बेवजह टहलाया जाता है और ऑडिट जैसी बातों को मुद्दा बनाकर न तो पैसों की निकासी की जा रही है और न ही नए किसान क्रेडिट कार्य निर्गत किये जा रहे हैं।

पिछले कुछ दिनों से बैंकों ने वसूली को मुद्दा बनाकर किसी भी किसान को एक कौड़ी नहीं दी है। किसी भी स्थिति में बैंक केवल वसूली पर जुटी हुई है। जबकि प्रदेश के मुख्य सचिव के सख्त निर्देश है कि किसानों को नए किसान क्रेडिट कार्ड देने में कोई आना कानी नहीं की जानी चाहिए।

बैंक सरकार की नाफरमानी पर उतरे

आर्यावर्त बैंक (पूर्व में इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक) क्षेत्रीय ऑफिस महोबा के क्रेडिट विभाग में कार्यरत एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर यह बताया कि हालांकि सरकार के सख्त निर्देश दिया है कि किसानों को कर्ज देने में कोई कोताही न बरती जाए , लेकिन फिर भी बैंक संगठन के द्वारा मौखिक तौर पर बैंकों को निर्देश दिए गए कि किसी भी किसान को सीधे तौर पर नए क्रेडिट कार्ड बनाने से मना न किया जाए, और न ही पैसा निकालने से सीधे सीधे मना किया जाए, बल्कि उन्हें बहला फुसला कर शांत रखा जाए। अधिकारियों ने किसी तरह ये एक माह का बुआई का समय निकल जाने की सलाह दी है।

आपको बता दें कि, वर्तमान में खरीब फसल की बुआई का समय चल रहा है ,और किसान को इस समय पैसों की सख्त जरूरत होती है। जो उसे सहज तरीके से मिलना चाहिए।वहीं केंद्र सरकार ने बैंकों को निर्देश दिए हैं कि किसानों को 15 दिन में क्रेडिट कार्ड और लोन की सुविधा मिले।