उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Budget 2019
Budget 2019|Social Media
देश

निर्मला सीतारमण ने खुद ही बता दिया ‘बजट’ का नाम बदलकर ‘बही खाता’ क्यों रखा गया 

75 साल बाद बदल गया बजट का स्वरूप 

Uday Bulletin

Uday Bulletin

आज देश की दूसरी महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश किया। इस बजट दस्तावेज को लेकर जब वित्त मंत्री और वित्त मंत्रालय के अधिकारी नॉर्थ ब्लॉक से निकले तो सभी की निगाहें बजट के बैग पर अटक गई। इस बार कुछ अलग था कुछ नया था, हर वर्ष की तरह इस वर्ष बजट के लिए लेदर बैग का इस्तेमाल नहीं किया गया था। जिससे बजट शब्द की उत्पत्ति हुई है।

बजट बैग के साथ-साथ इस बार नाम भी बदल गया। ‘बजट’ का नया नाम 'बही खाता' रखा गया। लेदर बैग की जगह लाल कपड़े ने ले थी। निर्मला सीतारमण ने भारत की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए आज सदन में 'बही खाता' पेश किया। लाल रंग के कपड़े में बंधा हुआ 'बही खाता' जिसपर अशोक स्तंभ भी बना हुआ था।

Budget 2019-2020
Budget 2019-2020
Social Media

ब्रिटिश हैंगओवर से आगे बढ़ने की जरुरत

जब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से बजट के इस बदलाव के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि "लंबे समय से हमलोग बजट के दौरान लेदर बैग का इस्तेमाल कर रहे हैं। मुझे लगा कि ब्रिटिश हैंगओवर से आगे बढ़ने का समय आ गया है। अब हमें अपने दम पर कुछ करने की जरुरत है। इसलिए यह बदलाव जरुरी है।‘बजट’ का नाम ‘बही खाता’ रखना, गुलामी की परंपरा से मुक्ति की ओर इशारा करता है।”

वित्त मंत्री ने आगे कहा कि बजट को कपड़े के बैग में लेकर जाना मेरे लिए भी आसान था।

Budget 2019
Budget 2019
Social Media

चमड़े के बैग का क्यों किया जाता था इस्तेमाल ?

चलिए अब जानते हैं कि बजट के लिए चमड़े के बैग का इस्तेमाल क्यों किया जाता रहा है। दरअसल 'बजट' अंग्रेजी का शब्द है जिसकी उत्पत्ति फ्रांसीसी शब्द ‘बॉगेटी’ से हुई है। जिसका अर्थ 'चमड़े का थैला' होता है। और पहली बार 1860 में ब्रिटेन के ‘चांसलर ऑफ दी एक्सयचेकर चीफ’ विलियम एवर्ट ग्लैडस्टन ने अपने दस्तावेज को रखने के लिए लेदर बैग का इस्तेमाल किया था। जिसे खुद ब्रिटेन की महारानी ने उन्हें दिया था। और तब से ही हिसाब-किताब के दस्तावेजों को लेदर बैग में रखने का चलन बन चुका है। भारत की आजादी के 75 साल बाद तक यही परंपरा कायम रही। जिसे आज तोड़ते हुए वित्त मंत्री ने 'न्यू इंडिया' की नींव रखी है।