कावड़ियां यात्रा पर योगी सरकार 
कावड़ियां यात्रा पर योगी सरकार |Social Media
देश

जम के बजेगा डीजे कावड़ियों के संग , हेलीकॉप्टर से बरसेंगे फूलों वाले रंग

योगी सरकार के नए नियम ने क्रिएट किया कन्फ्यूजन 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश जो कि प्रयागराज कुंभ के विशालतम आयोजन को सफल एवम सुरक्षित तरीके से कराने में सफल हुए है। उसी तर्ज पर योगी ने उत्तर प्रदेश के उच्चाधिकारियों को प्रदेश में होने वाली कांवड़ यात्रा को सफल कराने के लिए कड़े निर्देश दिए हैं।

योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को चेताया कि आप सबको कुंभ के आयोजन से सीख लेनी पड़ेगी। जब कुंभ जैसा विशालतम आयोजन बिना किसी समस्या के सुचारू रूप से निबट गया तो काँवड़ यात्रा में कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। योगी आदित्यनाथ के अनुसार सावन के पवित्र महीने में होने वाली काँवड़ यात्रा में किसी यात्री और श्रद्धालु को किसी समस्या से दो चार न होना पड़े।

स्वच्छता का रहे विशेष ध्यान

मुख्यमंत्री योगी ने बड़े अफसरान को कड़े शब्दों में समझाया है कि काँवड़ यात्रा के दौरान साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए। शिवालय और मंदिरों की नियमित रूप से सफाई अनवरत चलती रहनी चाहिए। मंदिरों के नजदीक डस्टबिन इत्यादि की सुलभ उपलब्धता होनी चाहिए।

डीजे पर बजाए जाएंगे सिर्फ भजन

काँवड़ यात्रा में डीजे के बजाने पर कोई पाबंदी नही होंगी, लेकिन गीत के तौर पर केवल भजन ही बजाए जा सकेंगे। ध्वनि नियंत्रण में ही होनी चाहिए,यात्रा के नाम पर अश्लीलता भरे एवम उन्माद भरे गाने स्वीकार नहीं किये जायेंगे।

मांस की दुकानों और प्लास्टिक पर सख्ती

मुख्यमंत्री ने संबंधित जिला अधिकारीयों को निर्देश दिए हैं कि अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि किसी भी शिवालय के पास कोई मांस मदिरा की दुकान न हो। अगर है तो इस को समुचित तरीके से हटा दिया जाए, साथ ही मंदिरों में प्लास्टिक और थर्माकोल पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा।

हेलीकॉप्टर बरसायेंगे पुष्प

पिछले बार की भांति ही उत्तर प्रदेश सरकार कावड़ियों पर हेलीकॉप्टर के माध्यम से नजर रखेगी। जिसमें सुरक्षा भी शामिल है तथा हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा की भी पूरी तैयारी है।

बकरीद की वजह से ज्यादा सतर्कता

योगी सरकार ने प्रशासन को बेहद कड़े निर्देश दिए है कि काँवड़ यात्रा के समय प्रतिबंधित पशुओं के कटान को पूरी तरह से रोका जाए और बकरीद के नजदीक होने से बकरों इत्यादि के कटान संबंधित समस्याओं को सतर्कता से निवारण कराया जाए।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com