उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
शादी के बाद संसद पहुंची नुसरत जहां
शादी के बाद संसद पहुंची नुसरत जहां|Social Media
देश

नुसरत जहां ने पहना मंगलसूत्र और लगाया सिंदूर, मौलानाओं के दिल में लगी आग

साध्वी प्राची ने दिया नुसरत का साथ

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

तृणमूल कांग्रेस की नवनिर्वाचित और नवविवाहित सांसद नुसरत जहां ने लोकसभा चुनाव में जीतने के तुरंत बाद ही अपने प्रेमी, कोलकाता के मूल निवासी व व्यवसायी निखिल जैन के साथ हिन्दू और क्रिस्चियन पद्यति से विवाह किया था।

संसद में हुए लोकसभा सदस्यों के शपथ ग्रहण समारोह में नुसरत जहां ने पारंपरिक विवाहिता वेशभूषा जिसमें मंगलसूत्र, मांग में सिंदूर, बिन्दी, चूड़ा और मेंहदी के साथ साड़ी पहन कर सपथ ली थी। शपथ ग्रहण के बाद उन्होंने स्पीकर के पैर छूकर भविष्य के लिए आशीर्वाद भी लिया था।

पति के साथ नुसरत जहां 
पति के साथ नुसरत जहां 
Social Media

बस यही बात उलेमाओं को खल गयी

नुसरत जहां से यह विवाह प्रेम विवाह किया था। जिसमें उन्होंने जातिगत और धर्मगत बंधनों को छोड़कर हिन्दू कारोबारी निखिल जैन से विवाह किया था। शपथ ग्रहण समारोह की तश्वीरे सोशल मीडिया में फैलने के बाद देवबंदी उलेमा नाराज हो गए और नुसरत के लिए फतवा जारी कर दिया। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर स्थित देवबंद के उलेमाओं ने नुसरत के सिंदूर लगाने , मंगलसूत्र पहनने, और चूड़ा पहनने पर फतवा जारी किया है।

परिवार के साथ नुसरत जहां  
परिवार के साथ नुसरत जहां  
Social Media

मिला साध्वी प्राची का साथ

भाजपा की तेजतर्रार फायरब्रांड नेता साध्वी प्राची इस समय नुसरत जहां के पूरे समर्थन में है। उन्होंने कहा कि-

अगर कोई हिन्दू बच्ची किसी मुस्लिम के साथ लव जेहाद की प्लानिंग के तहत फसकर शादी कर लेती है और उसे जबरजस्ती बुर्का पहनाया जाता है। तो वह जायज हो जाता है, लेकिन अगर कोई मुस्लिम लड़की किसी हिन्दू के साथ प्रेम विवाह कर ले तो बिंदी लगाना, मंगलसूत्र पहनना हराम हो जाता है। साध्वी प्राची ने इस बात पर भी जोर दिया कि अगर देवबंद को फतवा निकालने की आदत है तो तीन तलाक, और बहुपत्नी जैसी कुरीतियों पर फतवे क्यों नहीं निकालते, इन मौलानाओं पर शक पैदा होता है।

गौरतलब हो TMC संसद नुसरत जहां ने अपना विवाह पूरी तरह अपनी मर्जी से हिन्दू वैदिक विधान से किया है और भारत का संविधान ऐसा करने की पूरी आजादी देता है।