उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
जयशंकर भाजपा में शामिल  
जयशंकर भाजपा में शामिल  |Social Media
देश

जयशंकर के बीजेपी में शामिल होने से और भी मजबूत हुआ मोदी कैबिनेट 

भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए केंद्रीय विदेश मंत्री एस.जयशंकर

Uday Bulletin

Uday Bulletin

विदेश मंत्री एस.जयशंकर सोमवार को औपचारिक रूप से भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आश्चर्यजनक रूप से कैबिनेट में शामिल किए जाने के करीब एक महीना बाद वह भाजपा में शामिल हुए हैं। वह संसद के किसी भी सदन का सदस्य नहीं हैं। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जे.पी.नड्डा ने 64 साल उम्र के पूर्व विदेश सचिव का पार्टी कार्यालय में स्वागत किया।

इस मौके पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, विदेश राज्यमंत्री वी.मुरलीधरन व भाजपा सांसद भूपेंद्र यादव भी मौजूद थे।

नई मंत्रिपरिषद में ली थी शपथ

जयशंकर ने प्रधानमंत्री मोदी के पहले कार्यकाल की विदेश नीति को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। जयशंकर को नई मंत्रिपरिषद में शपथ दिलाई गई और 30 मई को विदेश मंत्रालय का महत्वपूर्ण दायित्व सौंपा गया।

मोदी सरकार 1 में निभा चुके हैं महत्वपूर्ण भूमिका

विदेश मंत्री एस.जयशंकर मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में जनवरी 2015 से जनवरी 2018 तक विदेश सचिव रहे। उन्होंने ही मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में विदेश नीति को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिससे प्रमुख देशों, विशेष रूप से अमेरिका और अरब देशों के साथ भारत के संबंधों में महत्वपूर्ण विकास और विस्तार हुआ।

कौन हैं एस.जयशंकर

एस.जयशंकर का जन्म नई दिल्ली, भारत में हुआ था। एस.जयशंकर प्रमुख भारतीय सामरिक मामलों के विश्लेषक, टिप्पणीकार और प्रशासनिक अधिकारी रहे हैं। एस.जयशंकर महान इतिहासकार संजय सुब्रह्मण्यम और भारत के पूर्व ग्रामीण विकास सचिव एस॰ विजय कुमार के भाई हैं। मोदी सरकार में शामिल होने से पहले एस.जयशंकर टाटा समूह के वैश्विक कॉरपोरेट मामलों के प्रमुख थे। वहाँ वे टाटा समूह के वैश्विक कॉरपोरेट मामले और अंतर्राष्ट्रीय रणनीति से जुड़े मामले देखते हैं।

जिसके बाद एस.जयशंकर भारतीय विदेश सेवा से जुड़े और सन् 1977-बैच के आईएफएस अधिकारी बने। उन्होंने विदेश मंत्रालय में विभिन्न पदों पर सेवाएं दी हैं और अमेरिका व चीन जैसे महत्वपूर्ण देशों में भारतीय राजदूत के रूप में महत्वपूर्ण समय में सेवाएं दी हैं।