Doctor Strike in west Bengal
Doctor Strike in west Bengal|Social Media
देश

Live: हड़ताल ख़त्म कर काम पर लौटे देश भर के डॉक्टर, अस्पताल के बाहर मरीजों की लंबी लाइन 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

करीब 8 दिन तक चली जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल अब ख़त्म हो चुकी है। सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने डॉक्टरों के प्रतिनिधियों से बातचीत की और उनकी सभी मांगे मान ली। जिसके बाद उन्होंने हड़ताल वापस ले लिया।

अस्पताल के बाहर मरीजों की कतार

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ कल बैठक के बाद डॉक्टरों ने हड़ताल खत्म ली। जिसके बाद हॉस्पिटल के बहार मरीजों की लंबी कतार लगने लगी है। बंगाल के सिलीगुड़ी में उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल के बहार लोग इलाज के लिए अपनी बरी का इंतज़ार कर रहे हैं।

दिल्ली एम्स के डॉक्टरों ने खत्म की हड़ताल

नई दिल्ली एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने हड़ताल वापस ले ली। जिसके बाद डॉक्टर अब अपने काम पर वापस लौट आए हैं। उनके लौटे से मरीजों को राहत मिलेगी।

Summary

पश्चिम बंगाल में दो जूनियर डॉक्टर के साथ हुई मारपीट की घटना के बाद पिछले 7 दिन से देश भर के डॉक्टर हड़ताल पर हैं। जिनकी वजह से मरीजों को काफी परेशानियां उठानी पड़ रही है। देश भर के कई सरकारी अस्पतालों में सन्नाटा पसरा हुआ है। बीते शनिवार को ममता बनर्जी ने मीडिया के सामने आकर कहा था कि उन्होंने डॉक्टरों की सभी मांगे मान ली है लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि ममता बनर्जी को मीडिया के सामने बातचीत करनी होगी।

इसी बीच IMA के डॉक्टरों ने आज से हड़ताल का ऐलान किया है उनकी मांग है कि सरकार उनकी सुरक्षा की जिम्मेवारी ले। डॉक्टरों की हड़ताल से जुड़ी हर अपडेट के लिए हमारे साथ लाइव ब्लॉग पर बने रहें।

अस्पताल में होगी नोडल पुलिस अधिकारी की नियुक्त

हड़ताली डॉक्टरों के साथ मीटिंग के दौरान ममता बनर्जी ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर को हर अस्पताल में नोडल पुलिस अधिकारी नियुक्त करने का निर्देश दिया है।

बैठक के ममता का फैसला डॉक्टरों के खिलाफ नहीं दर्ज होगा कोई केस

बंगाल में हड़ताली डॉक्टरों के प्रतिनिधियों से मीटिंग के दौरान सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि डॉक्टरों के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं होगा। ममता ने कहा, "आप सब तो बच्चे हैं, आप पर क्यों एक्शन लेंगे।"

ममता ने मानी डॉक्टरों की सभी 12 मांगे, 7 दिनों में किया मांग पूरा करने का वादा

डॉक्टरों के सामने झुकी ममता बनर्जी

कोलकाता के सचिवालय में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी डॉक्टरों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक के पहुंच चुकी हैं। इस बैठक में ममता के मंत्री और अधिकारी शामिल होंगे।

डॉक्टरों की टीम ने ममता बनर्जी के सामने मांगे रखी -

  • राज्य में डॉक्टरों की कमी को पूरा करे सरकार।
  • इमरजेंसी वार्ड में पुलिस सुरक्षा की मांग।
  • डॉक्टरों की सुरक्षा की जिम्मेवारी ले सरकार।

कर्नाटक : बेंगलुरु के विक्टोरिया अस्पताल के पास डॉक्टरों की हड़ताल ।

बंगाल के हड़ताली डॉक्टरों से आज मिलेंगी ममता बनर्जी

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज राज्य के हड़ताली डॉक्टरों से मिलेंगी। उन्होंने डॉक्टरों को 3 बजे मिलने का समय दिया है।

ममता से डॉक्टरों की मुलाकात

पश्चिम बंगाल 7 दिन से चल रहे डॉक्टरों के हड़ताल के बीच कल राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हड़ताली डॉक्टरों से मिलेंगी। उन्होंने राज्य के प्रत्येक मेडिकल कॉलेज के दो प्रतिनिधियों को मिलने का न्योता दिया है।

हड़ताल पर राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (RIMS) के डॉक्टर

हड़ताल पर बैठे गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर

SC में कल होगी सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट देश भर के सरकारी डॉक्टरों की सुरक्षा और सुरक्षा की मांग करने वाली याचिका पर कल सुनवाई करेगा।

केरल में डॉक्टर हड़ताल पर

पश्चिम बंगाल में अपने डॉक्टर साथियों पर हाल ही में हुए हमले के मद्देनजर सोमवार को केरल में निजी और राजकीय दोनों अस्पतालों के डॉक्टर भी सांकेतिक हड़ताल पर हैं।

एक ओर जहां निजी क्षेत्रों के डॉक्टरों ने आकस्मिक सेवाओं को उपलब्ध कराने के साथ एक दिवसीय हड़ताल का विकल्प चुना, वहीं सरकारी क्षेत्र के डॉक्टरों ने सभी बाह्य-रोगी सेवाओं के लिए सुबह 8 बजे से 10 बजे तक दो घंटे के लिए सेवाएं बंद रखने का निर्णय लिया।

इसके अलावा सभी सरकार संचालित मेडिकल कॉलेजों के शिक्षक भी सुबह 10 बजे से लेकर 11 बजे तक एक घंटे के लिए हड़ताल पर रहेंगे।

7 दिन से जारी है डॉक्टरओं की हड़ताल

कोलकाता में शुरू को जूनियर डॉक्टरों की लड़ाई अब पुर देश में फल चुकी है। और पिछले पांच दिन से डॉक्टर हड़ताल पर बैठे हैं। इस हड़ताल का खामियाजना मरीजों को भुगतना पड़ रहा है। पश्चिम बंगाल के दो जूनियर डॉक्टर के साथ हुई मार-पीट की घटना के बाद यह हड़ताल भयंकर रूप लेता जा रहा है। दिल्ली के AIMS, मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज (एमएएमसी) और सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टर आज भी हड़ताल कर रहे हैं।

विरोध कर रहे डॉक्टरों ने प्रदर्शन बंद करने के लिए सरकार के सामने कुछ शर्त रखी है। फ़िलहाल डॉक्टरों की हड़ताल ख़त्म होती नज़र नहीं आ रही है।

डॉक्टरों की मांग

  • ममता बनर्जी बिना शर्त जूनियर डॉक्टरों से माफ़ी मांगे।
  • ममता बनर्जी सीनियर डॉक्टर से मिले और बातचीत करें।
  • जूनियर डॉक्टर के साथ हुई मार-पीट की घटना का न्यायिक जाँच हो।
  • इसकी जाँच के लिए स्पेशल टीम के द्वारा हो।
  • राज्य सरकार डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए कदम उठाए।

काम पर लौटे दिल्ली AIIMS के डॉक्टर, ममता को दिया 48 घंटे का अल्टीमेटम

दिल्ली AIIMS के रेजिडेंट डॉक्टर्स हड़ताल खत्म कर अपने काम पर वापस लौट आएं हैं, लेकिन उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को मांगे पूरी करने के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह मल्ही ने कहा, “सभी रेजिडेंट डॉक्टर काम पर वापस आ गए हैं, लेकिन हम काले बैज, पट्टियां और हेलमेट पहनकर सांकेतिक विरोध जारी रखेंगे। अगर हालत बिगड़े तो हम 17 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।”

ममता बनर्जी सरकार को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया

दिल्ली एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने ममता बनर्जी सरकार को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। आरडीए की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, “हम पश्चिम बंगाल सरकार को हड़ताली डॉक्टरों की मांगों को पूरा करने के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम जारी करते हैं, अगर ऐसा नहीं होता तो हमें एम्स में अनिश्चितकालीन हड़ताल का सहारा लेने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।”

डॉक्टरों से मिलने पहुंची फिल्म निर्माता अपर्णा सेन

बंगाला फिल्म निर्माता अपर्णा सेन आज कोलकाता के एनआरएस कॉलेज एंड हॉस्पिटल में प्रदर्शनकारी डॉक्टरों से मुलाकात करने पहुंची। जहां उन्होंने कहा, "मैं सीएम ममता बनर्जी से यहां आने और डॉक्टरों से बात करने का अनुरोध करना चाहूंगी। अगर आपको किसी के व्यवहार के कारण बुरा लगा, तो कृपया उन्हें माफ कर दें। क्या आपको लगता है कि आप लोग जो कर रहे हैं वो यह बंगाल के लिए अच्छा है, अगर नहीं तो छोड़ दें? ”

दिल्ली में हेलमेट पहनकर डॉक्टर कर रहे हैं इलाज

पश्चिम बंगाल में 16 डॉक्टरों ने दिया इस्तीफा

आज पश्चिम बंगाल के 'आरजी कर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल' में 16 डॉक्टरों ने एक साथ अपना इस्तीफा देते हुए कहा कि, "मौजूदा स्थिति को देखते हुए हम अपना काम करने में असमर्थ हैं, इसलिए हम अपने कर्तव्य से इस्तीफा देना चाहेंगे"

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री, डॉ हर्षवर्धन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री, डॉ हर्षवर्धन ने पश्चिम बंगाल सहित पूरे देश में चल रहे डॉक्टरों के देशव्यापी हड़ताल पर कहा कि "मैं सभी डॉक्टरों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि सरकार उनकी सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। मैं डॉक्टरों से केवल प्रतीकात्मक विरोध प्रदर्शन करने और अपने कर्तव्यों को पूरा करने की अपील करता हूं।”

केरल के डॉक्टरों का प्रदर्शन

राजस्थान के डॉक्टरों का प्रदर्शन

राजस्थान के जयपुरिया अस्पताल के डॉक्टरों ने इस हड़ताल का समर्थन करते हुए अपने हाथ में काली पट्टी बांधकर अपनी ड्यूटी की।

छत्तीसगढ़ के डॉक्टरों का प्रदर्शन

महाराष्ट्र के डॉक्टरों का प्रदर्शन

दिल्ली के डॉक्टरों का प्रदर्शन

हैदराबाद के डॉक्टरों का प्रदर्शन

निजाम इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज के डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल के एनआरएस मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा पर विरोध मार्च निकाला।

बंगाल के डॉक्टरों का प्रदर्शन

बीजेपी पर आरोप

ममता सरकार ने विपक्षी दलों पर हड़ताली जूनियर डॉक्टरों को भड़काने का आरोप लगाया और कहा कि विपक्षी दल ममता बनर्जी सरकार की मुफ्त चिकित्सा सेवा योजना को बंद कराना चाहते हैं।

माजी ने कहा, "हमें इंटर्नशिप पूरा होने का पत्र रोकने जैसी उचित कार्रवाई करनी होगी। उनका पंजीयन भी रद्द किया जा सकता है।"

उन्होंने कहा, "राज्य सरकार सरकारी अस्पतालों में हर मेडिकल छात्र पर 50 लाख रुपये खर्च करती है। अगर वे मरीजों की सेवा का अपना नैतिक दायित्व पूरा नहीं करेंगे तो उन्हें मिल रही यह सुविधा बंद कर दी जाएगी।"

बंगाल सरकार हड़ताली डॉक्टरों पर कड़ी कार्रवाई की तैयारी में

हड़ताल ख़त्म न करने पर पश्चिम बंगाल सरकार हड़ताली जूनियर डॉक्टरों पर कड़ी कार्रवाई करने की तैयारी में है। पश्चिम बंगाल मेडिकल काउंसिल के अध्यक्ष निर्मल माजी ने गुरुवार को कहा कि हड़ताली डॉक्टर अगर काम पर नहीं लौटे तो उनका पंजीयन रद्द हो सकता है और उनका इंटर्नशिप पूरा होने का पत्र रोक दिया जाएगा।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com