उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Darvesh Yadav
Darvesh Yadav|Google
देश

पुराने सहयोगी ने उत्तर प्रदेश की पहली महिला बार कॉउंसिल अध्यक्ष को गोली मारी

उत्तर प्रदेश में दिन दहाड़े हत्या 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

उत्तर प्रदेश बार कॉउंसिल की पहली महिला अध्यक्ष बनने के मात्र दो दिन बाद , पुराने सहयोगी ने चैंबर के अंदर ही अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से भून दिया।

दरवेश यादव, ये नाम आगरा कचहरी में कोई नया नाम नहीं है। बार कॉउंसिल की राजनीति में सक्रिय भूमिका निभाने वाली नई वकील जिसकी हत्या उनके सहयोगी ने ही कर दी। गौरतलब हो कि पिछली 9 जून 2019 को ही प्रयागराज (पूर्व में इलाहाबाद) में बार कॉउंसिल अध्यक्ष पद के लिए दरवेश यादव को चुना गया था और जिस वक्त उनकी गोली मार कर हत्या की गई इस समय आगरा कचहरी में उनका स्वागत समारोह चल रहा था।

दरवेश यादव की हत्या के बाद खुद को गोली मारी

दरवेश यादव अपने सीनियर एडवोकेट अरविंद कुमार मिश्रा के चेंबर में बैठी थी, तभी उनके पुराने सहयोगी मनीष शर्मा ने अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से लगातार तीन गोलियां मारी, तीनों गोलियां दरवेश को लगी। दरवेश को गोली मारने के बाद शर्मा ने खुद को भी गोली मार ली।

गोली लगने के बाद दरवेश को आगरा के पुष्पांजलि अस्पताल ले जाया गया जहां उसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया, वही मनीष शर्मा को भी नजदीक अस्पताल में भर्ती किया गया है जहां उसका इलाज चल रहा है। इस खूनी हंगामे के बाद आगरा की कचहरी में आक्रोश व्याप्त है।

बीसीआई ने की हत्या की निंदा

बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने उत्तर प्रदेश में दरवेश यादव हत्याकांड की कड़ी निंदा की है। बीसीआई ने यूपी सरकार से अपील करते हुए कहा है कि "राज्य सरकार मृतक अध्यक्ष के परिवार को सुरक्षा प्रदान करे और इसके साथ ही न्यूनतम 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता मुहैया कराने की मांग भी की है।

हत्या पर राजनीति

दरवेश यादव की हत्या पर अब राजनीति भी की जा रही है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आरोप लगाते हुए कहा कि "बलात्कार, हत्याएं और राजनीतिक हत्याएं खतरनाक दर से बढ़ रही हैं। सीएम बैठकों पर बैठकों की अध्यक्षता कर रहे हैं, लेकिन कानून और व्यवस्था की स्थिति केवल बिगड़ रही है। अब आगरा के बार काउंसिल की पहली महिला प्रमुख को गोली मार दी गई है। यहां तक कि कानून के धारक भी सुरक्षित नहीं हैं।"

कौन है दरवेश यादव

दरवेश यादव मूल रूप से एटा निवासी हैं। इन्होंने आगरा कालेज से लॉ की डिग्री ली हुई थी तथा 2004 से अभी तक आगरा में ही प्रेक्टिस कर रही थी। 2016 में इन्हें उत्तर प्रदेश बार कॉउंसिल का उपाध्यक्ष भी चुना गया था था ,तथा 2017 में कार्यकारी अध्यक्ष भी रह चुकी हैं।