उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
भाजपा अगले 25 वर्षो तक सत्ता में रहेगी 
भाजपा अगले 25 वर्षो तक सत्ता में रहेगी |Google
देश

कांग्रेस नेता मानते हैं ‘भाजपा अगले 25 वर्षों तक सत्ता में रहने वाली है”

यह सुनने के बाद राहुल गांधी राजनीति से सन्यास ले लेंगे। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

कांग्रेस पिछले पांच सालों से सत्ता में नहीं है और इस बार भी लोकसभा चुनाव हार चुकी है। यानि आने वाले 5 साल और उसे सत्ता से दूर रहना होगा। लेकिन कांग्रेस के नेताओं को कुर्सी की ऐसी लत पड़ चुकी है कि उन्हें यह हार मंजूर नहीं। इसलिए अब गोवा कांग्रेस के 10 विधायक चाहते हैं कि वो अपना दल बदल लें और बीजेपी में शामिल हो जाये। इसके लिए उन्होंने बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं से बात भी की लेकिन पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने इस पहल को नामंजूर कर दिया है। यह जानकारी गोवा बीजेपी अध्यक्ष विनय तेंदुलकर ने दी

25 वर्षों तक सत्ता में रहेगी बीजेपी

हालांकि कांग्रेस के नेता बीजेपी के इस आरोप से इत्तेफाक नहीं रखते। गोवा कांग्रेस अध्यक्ष गिरीश चोडनकर के बीजेपी द्वारा लगाए गए इन आरोपों को पूरी तरह से खारिज कर दिया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि "बीजेपी हमेसा से झूठ की राजनीति करती आई है। उल्टा बीजेपी के नेताओं ने कांग्रेस के विधायकों को पाला बदलने के लिए 40-60 करोड़ रुपये की पेशकश की गई।”

लोकसभा चुनाव से पहले और बाद नेताओं की अदला बदली का राष्ट्रव्यापी ट्रेंड चला हुआ है। कांग्रेस के नेता भाजपा में शामिल होते ही देश भक्त हो जाते हैं। इसपर बीजेपी नेता कहते हैं कि “कांग्रेसी मानते हैं कि ‘भाजपा अगले 25 वर्षो तक सत्ता में रहने वाली है।’ 

विधायकों की अदला-बदली

वहीं बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष तेंदुलकर ने यह भी कहा कि, "हम अपनी तरफ से किसी भी पार्टी को अस्थिर नहीं करना चाहते हैं। सरकार चलाने के लिए 23 विधायक काफी हैं। इससे पहले 10 कांग्रेसी विधायक भाजपा में शामिल होने के लिए आए थे, लेकिन केंद्रीय नेतृत्व ने योजना खारिज कर दी थी। हमने स्पष्ट रूप से ना कहा है।"

लालच के मारे नेता

राजनीति में दलों की अदला-बदली नई नहीं है। लेकिन अब बात थोड़ी बदल गई है। पहले नेता देश और समाज के लिए पार्टी बदलते थे। लेकिन अब पैसे या फिर मंत्री पद का लालच उन्हें दल बदल के लिए मजबूर करता है। कुछ दिन पहले कांग्रेस नेता चोडनकर ने भाजपा पर आरोप लगाया था कि पैसे या फिर मंत्री पद का लालच देकर बीजेपी उनके पार्टी विधायकों को खरीद रही है।

बेबुनियाद आरोप

हालांकि बीजेपी नेता इस आरोप को आधारहीन मानते हैं। बीजेपी कहती है कि पार्टी में प्रवेश को लेकर कांग्रेस के किसी विधायक से बात नहीं की गई है और न ही कोई चर्चा चल रही है।"

बता दें हाल ही में बीजेपी पर आरोप लगा था कि उन्होंने 40-60 करोड़ रुपये और मंत्री पद का लालच देकर कांग्रेस के दो मंत्रियों को बीजेपी में शामिल करवाया था।